प्रो. नागेश्वर राव बने इंदिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति, कुछ ऐसे करेंगे इग्नू का कायाकल्प

120
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क: प्रो. नागेश्वर राव को इंदिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय नई दिल्ली का कुलपति बनाया गया है। प्रो. राव जल्द ही उत्तराखंड के राज्यपाल से अनुमति लेने के बाद कुलपति का पदभार संभालेंगे। प्रो. राव की नियुक्ति राष्ट्रपति की ओर से 5 वर्ष के लिए की गई है। वर्तमान में उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति का पद संभाल रहे प्रो. नागेश्वर राव इससे पहले भी इग्नू में प्रो वीसी और राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय इलाहाबाद में कुलपति रह चुके हैं। प्रो. नागेश्वर राव 2 मई 2016 को उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति बने थे।

प्रो. नागेश्वर राव

टेक्नोलॉजी में इग्नू को आगे करने का है लक्ष्य

इंदिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति बनने पर प्रो. नागेश्वर राव ने कहा कि आज जरूरत गुणवत्तापरक, तकनीकीयुक्त व रोजगारपरक शिक्षा की है। आम लोगों तक प्रभावी तरीके से उच्च शिक्षा पहुंचे, इसके लिए टेक्नोलॉजी बेस्ड शिक्षा देनी होगी। नए संस्थान में उच्च शिक्षा को टेक्नोलाजी के जरिये आगे बढ़ाना ही मेरा लक्ष्य होगा। ऐसा इसलिए भी जरूरी है कि हमारे विद्यार्थी परंपरागत विश्वविद्यालयों से आगे रह सकें।

प्रो. राव ने कहा कि इग्नू में 30 लाख छात्र-छात्राएं अध्ययनरत हैं। हर साल लाखों नए विद्यार्थियों का प्रवेश होता है। भारत के कोने-कोने के अलावा विश्व के 12 देशों में संचालित विश्वविद्यालय ने पहले ही दूरस्थ शिक्षा को आम लोगों तक पहुंचाया है। इसकी अध्ययन सामग्री विश्वस्तरीय है। उनका कहना है कि इसके बावजूद अभी भी इग्नू टेक्नोलॉजी में आगे नहीं है। इसके लिए वह हरसंभव प्रयास करना प्राथमिकता है।

बता दें कि प्रो. राव देश भर के मुक्त विश्वविद्यालयों की गुणवत्ता के लिए निर्धारित कमेटी नेशनल टास्क फोर्स के अध्यक्ष भी हैं। इसमें इग्नू के अलावा राज्य के 14 मुक्त विश्वविद्यालय हैं।