अपग्रेड होने जा रहा है पीएम मोदी का विमान, लगेंगी ये सब चिजें ; खर्चा सुनकर हैरान रह जाएंगे आप

544
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

[न्यूज टुडे नेटवर्क]. पीएम मोदी के विदेशी दौरे कि क्या बात करना. उनका विदेशी दौरा हमेशा से ही चर्चा में बना रहता है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पीएम मोदी का विदेश भ्रमण अब अपग्रेड होने वाला है. एअर इंडिया ने सिएटल स्थित विमान निर्माता से प्राप्त दो बिल्कुल नए बोइंग 777 विमानों को वापस अमेरिका भेजकर 1,100 करोड़ रू. के खर्च से उसे वीवीआईपी के अनुरूप बनाने के लिए कहा है. इनमें मिसाइल हमले से बचने का सिस्टम और सुरक्षित संचार प्रणाली लगाई जाएगी. पीएम के मौजूदा बोइंग 747 विमानों में ये सुविधाएं नहीं हैं.

एअर इंडिया के अधिकारी हालांकि दो विमानों के कम होने से खुश नहीं हैं. उन्हें इन बदलावों के लिए न केवल 1,100 करोड़ रु. चुकाने पड़ रहे हैं, बल्कि सालाना 100 करोड़ रु. की कमाई का भी नुकसान हो रहा है. अभी तक यह भी स्पष्ट नहीं है कि ये विमान जब आएंगे तो इनका संचालन कौन करेगा. गौरतलब है कि एअर इंडिया को बेचा जा रहा है और वायु सेना का वीवीआईपी स्कवाड्रन जो बोइंग बिजनेस जेट और एंब्रेयर चलाता है, उसके पास बड़े साइज के विमान चलाने वाले दक्ष पायलट नहीं हैं.

आपको बता दें कि अमूमन जिस प्लेन में राष्ट्राध्यक्ष सफर करते हैं उनमें कॉन्फ्रेंस हॉल, मीटिंग करने के लिए जगह, आराम करने के लिए जगह, छोटा ऑफिस जैसी सभी सुविधाएं होती हैं. इनके अलावा प्लेन से ही किसी भी देश के राष्ट्राध्यक्ष, अपने कार्यालय से संपर्क की भी सुविधा रहती हैं.

इसके अलावा भी मेडिकल, सुरक्षा तथा अन्य जरूरी सामान हमेशा राष्ट्राध्यक्ष के विमान में होते हैं. अगर बोइंग की बात करें तो एक बोइंग 777-300 ईआर विमान में अमूमन 342 सीटें होती हैं, जिनमें चार फर्स्ट क्लास, 35 बिजनेस क्लास और 303 इकोनॉमी क्लास की सीटें हैं.