VIRAL VIDEO: यहाँ फुटबॉल मैच के दौरान जब भालू लगाने लगा ठुमके, हर कोई रह गया दंग

110
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नई दिल्ली : न्यूज टुडे नेटवर्क- कहते हैं कि बेजुबान जानवरों पर हमेशा दया करनी चाहिए। लेकिन दुनिया में कुछ लोग ऐसे भी हैं जो अपने फायदे के लिए बेजुबान जानवरों का उत्पीड़न करने से भी बाज नही आते। अपने भारत देश में भी जानवरों के उत्पीड़न की तमाम घटनाएं सामने आती हैं। लेकिन आज जो खबर हम आपसे शेयर करने जा रहे हैं यह भारत से कई मीलों दूर रूस से आई है। यहाँ रशियन फुटबॉल लीग के आयोजन में एक भालू को दर्शकों के मनोरंजन के लिए लाया गया था।

आप कहेंगे तो इसमें क्या बड़ी बात है। ठहरिये जनाब पूरी कहानी तो जान लीजिए। दरअसल फुटबाल फील्ड में बेजुबान भालू के करतब कराने वाली रशियन फुटबाल लीग को सोशल मीडिया पर जानवरों के अधिकारों का समर्थन करने वालों के गुस्से का शिकार होना पड़ा । भालू के करतब का वीडियो इंटरनेट पर वायरल होते ही पशु अधिकार समूहों का गुस्सा रशियन लीग पर फूट पड़ा।

फुटबाल मैच के दौरान भालू ने किया कुछ इस तरह मनोरंजन

दरअसल रशियन फुटबॉल लीग के तीसरे टियर का यह मैच मशुक केएमवी और अंगश्ट के बीच हो रहा था। मैच की शुरुआत में टिम नाम का एक भालू पहले अपने दोनों पैरों पर खड़े होकर ताली बजा रहा था जिसके बाद एक व्यक्ति ने उसे गेंद दी और यह भालू ने मैच रैफरी को गेंद थमाई और इसके बाद फिर से तालियां बजाई।

 

भालू नहीं है बंधवा नौकर- PETA

भालू के डांस का वीडियो के वायरल होने के बाद जानवरों के लिए बनी संस्था पेटा (PETA) के डायरेक्टर एलीजा एलन ने इस घटना को अमानवीय करार देते हुए संवेदनाहीन बताते हुए कहा कि यह अमानवीय होने के साथ साथ, भालू को एक बंधुआ नौकर की तरह फुटबॉल दिलवाना काफी खतरनाक भी है । हम उम्मीद करते हैं कि रूस के लोग अपने देश के राष्ट्रीय प्रतीक और भालू के प्रति संवेदनशीलता दिखाएंगे और इस तरह की घटना पर रोक लगाएगें। इस तरह के करतबों पर रोक लगाई जाएगी।

बताते चलें कि इस साल जून और जुलाई के दौरान रूस में ही फीफा फुटबॉल वर्ल्डकप का आयोजन हो रहा है। ऐसे में यह घटना रूस के लिए सरदर्द बन सकती है, लेकिन फिलहाल रशियन फुटबॉल लीग के आयोजक लोगों के गुस्से का शिकार हो रहे हैं।