पाकिस्तान की ‘पिच’ पर रिकॉर्ड बनाने को तैयार हुए इमरान खान, विरोधियों की ‘फिरकी’ से हो गए ‘बोल्ड’

55
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

इस्लामाबाद- इंटरनेशनल डेस्क: क्रिकेटर से राजनेता बने इमरान खान पाकिस्तान में सहयोगी दलों और निर्दलीय उम्मीदवारों के समर्थन से सरकार बनाने के करीब पहुंच गए हैं। इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) के नेताओं ने अगला कदम और भविष्य के कैबिनेट के गठन पर चर्चा के लिए आज बैठक की। इमरान ने बानी गाला स्थित अपने घर पर पीटीआई के शीर्ष नेताओं की एक बैठक की अध्यक्षता की जहां पार्टी नेताओं ने खान को भरोसा दिलाया कि उनके पास सरकार बनाने के लिए संख्या हो जाएगी। इस बीच चुनाव परिणाम को लेकर राजनैतिक दलों की मीटिंग ने इमरान के मुश्किलें बढा दी हैं। हालाकि इमरान खान ने चुनाव नतीजों की जांच कराने की बात कही है।

हालांकि जो स्थिति बन कर सामने आई है उसमें बहुत ज्यादा रद्दोबदल की गुंजाइश नजर नहीं आती यानी पिछले 20 साल से शेरवानी सिलवाए बैठे इमरान खान अगले कुछ दिनों में प्रधानमंत्री पद की शपथ ले लेंगे इसे लेकर कोई शंका नहीं है। पाकिस्तान में नए प्रधानमंत्री को 12 अगस्त तक शपथ लेनी है।

डॉन समाचारपत्र की खबर के मुताबिक, चुनावों में हुई कथित धांधली को लेकर एक संयुक्त रणनीति पर विचार करने के लिए बुलाई गए विभिन्न दलों की एक बैठक में चुनाव परिणामों को खारिज किया गया और फिर से ‘निष्पक्ष’ चुनाव कराने की मांग की गई। इस्लामाबाद में हुई इस बैठक की अध्यक्षता पीएमएल-एन अध्यक्ष शहबाज शरीफ और मुत्ताहिदा मजलिस-ए- अमाल (एमएमए) के अध्यक्ष मौलाना फजलुर रहमान ने की जिसमें विभिन्न पार्टियों के नेता शामिल हुए।

बता दें कि संसदीय चुनाव में पीटीआई अकेली सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी है। कुल 270 सीटों के लिए चुनाव हुआ था जिसमें से खान की पार्टी पीटीआई ने 115 सीटें जीती हैं। उनकी पार्टी 2 और सीटों पर आगे है जिस पर मतगणना अभी चल रही है। चुनाव आयोग ने अब तक नेशनल असेंबली की 265 सीटों के परिणाम घोषित किये हैं। इसके मुताबिक, इमरान की पीटीआई के बाद दूसरे नम्बर पर जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) है, जिसने 64 सीटें जीती हैं। वहीं, पूर्व राष्ट्रपति आसिफ अली जरदारी की पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (पीपीपी) तीसरे स्थान पर है, जिसने 43 सीटें जीती हैं। निर्दलीय उम्मीदवारों ने 12 सीटें जीती हैं।

पाकिस्तान की नेशनल असेम्बली में कुल 342 सदस्य होते हैं जिसमें से 272 सीधे चुने जाते हैं। कोई भी पार्टी कुल 172 सीटें प्राप्त करके सरकार बना सकती है. रावलपिंडी की अडियाला जेल में नवाज शरीफ से मुलाकात करने गए उनकी पार्टी के कई नेताओं ने कहा कि शरीफ ने पार्टी के आरोपों को दोहराया और कहा कि चुनाव में ‘धांधली’ हुई है और ‘गलत और संदेहास्पद’ परिणाम देश की राजनीति पर खराब प्रभाव डालेंगे।