आज ही के दिन धोनी ने लिया था ये बड़ा फैसला, जिसने बदल दी विराट की किस्मत…

Facebooktwittergoogle_pluspinterest

महेंद्र सिंह धोनी को भारतीय क्रिकेट टीम की कप्तानी छोड़े आज पूरा 1 साल हो गया है. आज के दिन ही 4 जनवरी 2017 को धोनी ने वनडे और टी-20 क्रिकेट की कप्तानी छोड़ने का फैसला लिया था. पिछले एक साल में काफी कुछ बदल गया है. कप्तान विराट कोहली के निर्देशानुसर भारतीय टीम लगातार आगे बढ़ रही है, पहले टेस्ट और फिर वनडे-टी20 में भी टीम बढ़िया प्रदर्शन कर रही है.

 Virat

महेंद्र सिंह धोनी ने पिछले एक साल में बतौर विकेटकीपर बल्लेबाज टीम में अपना योगदान दिया. इस बीच उनके फॉर्म पर भी सवाल उठे, लेकिन हर बार धोनी ने अपने प्रदर्शन से आलोचकों को शांत किया. कप्तान विराट कोहली, कोच रवि शास्त्री ने भी समय-समय पर कहा कि धोनी से बेहतर कोई नहीं है.

कप्तानी छोड़ने के बाद धोनी का रोल टीम में काफी बदल गया. चूंकि वो सबसे सीनियर हैं, साथ ही अनुभवी कप्तान भी इसलिए उनकी जिम्मेदारी भी ज्यादा है. कई बार मैदान पर धोनी बड़ा फैसला लेते हुए नजर आते हैं, कप्तान कोहली भी मुश्किल समय में उनके पास मदद के लिए जाते हैं. और इस दौरान कभी कोई कप्तान और सीनियर खिलाड़ी के बीच खटपट की खबर नहीं आती है.

कप्तान कोहली ने भी हर बार कहा है कि ये मेरे लिए अच्छी बात है कि मेरी कप्तानी की शुरुआत में धोनी वहां पर मौजूद हैं. धोनी ना सिर्फ कप्तान को टिप्स देते हैं, बल्कि गेंदबाजों के लिए फील्डिंग सेट करना, उन्हें कहां पर गेंद डालनी है. उन्हें सब कुछ बताते हैं. 36 साल की उम्र में भी धोनी किसी युवा खिलाड़ी की तरह फिट हैं. मतलब मिशन 2019 वर्ल्ड कप के लिए वह बिल्कुल तैयार हैं.

पिछले एक साल में धोनी के प्रदर्शन में गिरावट आई है. अब वह पहले की तरह धुआंधार बल्लेबाजी नहीं कर पाते हैं. लेकिन फिर भी समय आने पर उन्होंने कई बार टीम की डूबती नैय्या को बचाया है. 2017 में धोनी ने 29 वनडे मैचों की 22 पारियों में 788 रन बनाए. इस दौरान उनका औसत 60 से ऊपर का रहा. धोनी ने 2017 में 1 शतक और 6 अर्धशतक जड़े.

सबसे बड़ा कप्तान !

बतौर कप्तान धोनी काफी सफल रहे हैं. अगर वनडे की बात करें तो उन्होंने भारत की ओर से 199 मैचों में कप्तानी की है जिसमें उन्होंने 110 मैचों में जीत हासिल की, जबकि 74 मुकाबलों में उन्हें हार मिली. चार मुकाबले टाई और 11 मैचों का कोई परिणाम नहीं निकला. धोनी की कप्तानी में टीम इंडिया ने 60 फीसद से ज्यादा मैचों में जीत दर्ज की है.

धोनी की ही कप्तानी में भारत ने पहला टी-20 वर्ल्ड कप, 2011 का विश्वकप और 2013 में आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी जीती. धोनी दुनिया के इकलौते ऐसे कप्तान रहे जिन्होंने आईसीसी की सभी ट्रॉफियां जीती हैं.

loading...