Sex Change करने वाली इस महिला अधिकारी की बदलने वाली है जिंदगी, लिया ये बड़ा फैसला

289
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

भुवनेश्वर- न्यूज टुडे नेटवर्क: साल 2014 में सुप्रीम कोर्ट द्वारा किन्नर को तृतीय लिंग की मान्यता मिलने के बाद चर्चा में आने वाली ऐश्वर्या एक बार फिर चर्चा में हैं। पारादीप वाणिज्य कर (शुल्क) अधिकारी एश्वर्या ऋतुपर्णा प्रधान ओडिशा की पहली एवं एकमात्र ओडिशा फाइनेंस सर्विस (ओएफएस) पाने वाली किन्नर हैं।

एश्वर्या ऋतुपर्णा प्रधान

गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट द्वारा समलैंगिक संपर्क अपराध नहीं होने की घोषणा करने के बाद से ही बेहद खुश ऋतुपर्णा ने कहा है कि वह जल्द ही अपने लिव इन रिलेशनशिप वाले पुरुष दोस्त के साथ समलैंगिक विवाह करने जा रही हैं। हालाकि ऋतुपर्णा ने अपने जीवनसाथी का नाम अभी छुपाकर ही रखा है।

रविकांत प्रधान से एश्वर्या ऋतुपर्णा बनने तक का सफर

आज भले ही लिंग परिवर्तन के बाद वो एश्वर्या के नाम से जानी जाती हों लेकिन कुछ साल पहले तक वे रतिकांत प्रधान नाम से जानी जाती थी। 15 अक्टूबर वर्ष 2015 को उन्होंने लिंग परिवर्तन करा कर ऐश्वर्या ऋतुपर्णा प्रधान हो गई। तब से वो श्रीमान से श्रीमती बन गई। एश्वर्या ऋतुपर्णा कंधमाल के कनकगोरी गांव की मूल निवासी हैं।

एश्वर्या ऋतुपर्णा प्रधान

बता दें कि ऐश्वर्या देश की पहली ऐसी अधिकारी हैं, जिन्होंने सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद अपना लिंग परिवर्तन कराया था। उनके इस कदम से पिता ने उन्हें घर से बाहर निकाल दिया था। वह पिछले 04 साल से परिवार से अलग रहती हैं। बावजूद आज भी एश्वर्या ऋतुपर्णा वह अपनी मां, भाई, बहन के साथ संपर्क में हैं।