नई दिल्ली- मोदी ने इस तरह बनाया पोस्टमैन को चलता-फिरता बैंक, जाने आपको कैसे मिलेगा सुविधा लाभ

79
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: 1 सितंबर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक में अपना पहला खाता खोलने के साथ-साथ PPB मोबाइल App भी लॉन्च कर दिया है। इसकी यह खासियत है कि इसमें खाता खुलने में एक मिनट से भी कम का समय लगेगा। लेकिन 12 महीने के भीतर आपको पोस्ट ऑफिस या फिर चेक पोइंट में अपने डॉक्युमेंट जमा कराने होंगे।

अब चलता फिरता बैंक बना डाकिया

इस एप के लौंच हो जाने से अब डाकियों द्वारा देश के सुदूर और पिछड़े इलाकों में रहने वाले लोग अपने दरवाजे पर बैंकिंग सुविधाएं पा सकेंगे। शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा पोस्ट पेमेंट बैंक की 650 शाखाओं और 3250 एक्सेस प्वाइंट का उद्घाटन किया गया है। ग्रामीण और शहरी क्षेत्र के डाकघरों के 11,000 के करीब पोस्टमैन ‘आपका बैंक-आपके द्वार’ के तहत सीधे दरवाजे पर बैंकिंग सेवाएं देंगे। इस योजना के तहत एक लाख खाते खोलने का लक्ष्य रखा गया है। जबकी प्रदेश में अभी तक 3065 खाते खोले जा चुके हैं।

वीडियों कॉफ्रेंसिंग के जरिए आईपीपीबी का किया शुभारंभ

1 सितंबर को जीपीओ स्थित डाकघर में इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (आईपीपीबी) का शुभारंभ पर कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस दौरान कार्यक्रम में मुख्य अतिथि त्रिवेंद्र सिंह रावत और विशिष्ट अतिथि उच्च शिक्षा राज्यमंत्री धन सिंह रावत रहे। वहीं वीडियो कॉफ्रेंसिंग के जरिये प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली में आईपीपीबी का शुभारंभ किया। इसके बाद सीएम ने राजधानी में इसका शुभारंभ किया और अपना खाता भी खुलवाया। बता दें देश के सभी 40 हजार डाकियों और दो लाख से ज्यादा ग्रामीण डाक सेवकों को इस काम में लगाया जाएगा। इसके लिए इन्हें प्रशिक्षण दिया जा रहा है।

कैसे खुलेगा खाता

आईपीपीबी में आधार कार्ड के जरिए आप खाता खुलवा सकते हैं। इसमें खाताधारक को अपना खाता अथवा पिन नंबर याद रखने की जरूरत नहीं पड़ेगी। ग्राहक को एक क्यूआर कार्ड मिलेगा। जबकि डाकिये के पास पीओएस मशीन होगी। पैसा जमा करने या भेजने के लिए क्यूआर कार्ड को पीओएस मशीन में डालने के बाद फिंगर प्रिंट देना होगा। इसके माध्यम से उपभोक्ताओं को बचत खाता, चालू खाता, डोमेस्टिक रेमिटेंस सर्विसेज, डिजिटल पेमेंट, थर्ड पार्टी इंश्योरेंस, म्यूचुअल फंड आदि जैसी सुविधाएं दी जाएंगी। इसके अलावा सरकार इस बैंक का इस्तेमाल मनरेगा का वेतन, सब्सिडी, पेंशन आदि बांटने में भी करेगा।

छोटे-छोटे भुगतान के लिए यह योजना क्रांतिकारी कदम साबित होगी। इसमें अधिकतम एक लाख रुपये जमा कराये जा सकते हैं। पेमेंट बैंक को 17 करोड़ डाकघर बचत खातों से जोड़ा गया है। आम लोगों तक पहुंच के मामले में भारत का यह पहला सबसे बड़ा पेमेंट बैंक होगा। ऋण एवं प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के लिए आईपीपीबी ने पंजाब नेशनल बैंक के साथ करार किया है। वहीं जीवन बीमा के लिए बजाज आलियांज के साथ करार किया है। 31 दिसंबर तक देश के सभी डाकघर आईपीपीबी के एक्सेस प्वाइंट के रूप में काम करने लगेंगे।