गलती से भी न करें नवरात्र में ये अशुभ कार्य, वरना रूठ जाएंगी देवी माँ

171
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क : 18 मार्च यानि आज से चैत्र मास के नवरात्र शुरू हो रहे हैं। इस साल चैत्र नवरात्र आठ दिन के रहेंगे यानी 25 मार्च को नवरात्र की अंतिम तिथि रहेगी। ऐसी पौराणिक मान्यता है कि अगर साफ-सफाई से सही शब्दों का उच्चारण किया जाए तो देवी मां का आशीर्वाद मिलता है। नवरात्र देवी पूजा को समर्पित होता है। इन दिनों मां दुर्गा के लिए व्रत-उपवास और पूजा-पाठ करने से घर में सुख-समृद्धि बनी रहती है। इन दिनों में धर्म के विरुद्ध कामों से बचना चाहिए। जो लोग नवरात्र में अशुभ कार्य करते हैं, उन्हें देवी की कृपा नहीं बल्कि नाराजगी का सामना करना पड़ सकता है। उनकी सभी प्रकार पूजा निष्फल हो सकती है। ऐसे समय नवरात्र में अशुभ कार्यों से बचकर ही रहना चाहिए।

सुबह देर तक सोने से बचें

नवरात्र देवी भक्ति का समय है। इन दिनों में सुबह सूर्योदय से पहले ही बिस्तर छोड़ देना चाहिए। जल्दी उठें और देवी दुर्गा की पूजा करें। सुबह देर तक सोने से देवी मां की कृपा नहीं मिल पाती है।

sleep

यह भी पढ़ें-सिर्फ एक मिनट तक जीभ को तालू से लगाए, फिर देखें कमाल

यह भी पढ़ें-नवरात्रि में जप लें रामचरित मानस की ये 10 चौपाई , जिनको जपने से संकट और विपत्तियां से हमेशा रहेंगी दूर

यह भी पढ़ें-जानिए: स्त्री और पुरुष के शरीर की बनावट से पता चल जाते हैं उनके रंग-ढंग

गुरु, वृद्धों और स्त्रियों का अपमान न करें

नवरात्र देवी की पूजा का महापर्व है। इन दिनों में स्त्रियों का अपमान करने की गलती न करें। स्त्रियों के अपमान से देवी नाराज हो जाती हैं। साथ ही, किसी वृद्ध का अपमान भी न करें। वृद्धों का सम्मान करें। उनके आशीर्वाद से परेशानियां दूर हो सकती हैं।

नाखून काटने से बचें

पं. सुनील उपाध्याय के अनुसार नवरात्र में नाखून काटने की मनाही है। जो लोग इस बात का ध्यान नहीं रखते हैं, उन्हें देवी मां के क्रोध का सामना करना पड़ सकता है।

nel

न बाल कटावाएं और न ही दाढ़ी बनवाएं

शास्त्रों में कुछ काम ऐसे बताए गए हैं, जिन्हें शुभ दिनों में नहीं करना चाहिए। दाढ़ी बनाना और बाल कटवाना भी उन्हीं कर्मों में शामिल है। नवरात्र के पवित्र दिनों में इस काम भी बचना चाहिए।

नशा उपयोग बिल्कुल भी न करें

शास्त्रों के अनुसार नशा करने वाला व्यक्ति कभी भी देवी-देवताओं की कृपा प्राप्त नहीं कर सकता है। नशा करना एक बुरी आदत है और इससे सभी को बचना चाहिए। खासतौर पर नवरात्र में इस बुराई से दूर ही रहना चाहिए।