Mother’s Day 2018: केवल माँ ही पूछ सकती हैं ये बातें, तभी तो हर माँ होती है स्पेशल

207
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क: माँ के सम्मान के लिए कोई एक दिन तय हो ही नही सकता। माँ के सम्मान के लिए हर सांस और पूरी उम्र भी कम पड़ जाती है। जन्म देने से लेकर पालन-पोषण तक माँ के त्याग और समर्पण का कर्ज हर औलाद पर रहता है। आने वाले रविवार यानि 13 मई को एक बार फिर मदर्स डे के रूप में माँ के प्रति इसी सम्मान को व्यक्त करने का दिन आ रहा है।

खुद को भूल अपना वक्त, करियर और सपनों को छोड़ पूरा जीवन बच्चों के नाम कुर्बान कर देने वाली मां को इस दिन नमन किया जाता है। सिर्फ आपकी या हमारी नहीं बल्कि हर मां ऐसी ही होती है, जो बच्चों के लिए अपनी जिंदगी कुर्बान कर देती है। जीवन में कोई भी उतार-चढ़ाव आए, लेकिन मां का प्यार कभी टस से मस नही होता। मां का प्यार हमेशा एक सा बना रहता है।

मदर्स डे के अवसर पर आज हम आपसे कुछ ऐसी बातें शेयर कर रहे हैं जिन्हें सिर्फ और सिर्फ माँ की कह सकती है, दुनिया का कोई और शख्स नहीं।

खाना खाया या नहीं?

घर पर तमाम रिश्तों के बीच अगर औलाद रात के 2 बजे भी घर पहुंचती है , तो वो एक माँ ही होती है जो अपने बच्चे से पूछती है – खाना खाया या नहीं? एक मां ही होती है जो अपने बच्चों के प्रति इतनी केयरिंग होती है।

मेरा बच्चा सबसे सुंदर

दोस्तों और रिश्तेदारों के मुंह से अपनी खुबसुरती की तारीफ तो आपने कई बार सुनी होगी, लेकिन इन तारीफों में यह तय करना कई बार मुश्किल हो जाता है कि क्या ये तारीफ वाकई दिल से की गई है या फिर केवल आपको इम्प्रैस करने के लिए। इसके उलट एक मां के लिए उसका बेटा या बेटी हमेशा दुनिया की सबसे खूबसूरत इंसान होते हैं। आखिर मां की नजर इतनी प्यारी जो होती है।

फोन…फोन बस हर वक्त फोन

आज के सोशल मीडिया के दौर में वॉट्सऐप, फेसबुक, इंस्टाग्राम, स्नैपचैट, ट्विटर के बिना गुजारा नही होता, ऐसे में जब बेटा या बेटी के हाथ में फोन को देखकर माँ यही कहती है- बेटा फोन..फोन..फोन हर वक्त इस फोन में क्यों लगे रहते हो। वो बात अलग है कि सोशल मीडिया के बढते प्रचलन ने माँ को भी इसका चस्का लगा दिया है। लेकिन फिर भी घर पर माँ यही चाहती है कि उसका बेटा या बेटी हर वक्त फोन पर ना लगा रहे।

पहले ये बताओ- घर कब आ रहे हो ?

आप चाहे अपनी मां से दूर किसी दूसरे शहर में काम या पढ़ाई के लिये गये हों या फिर सिर्फ चन्द किलोमीटर की दूरी पर दोस्तों के साथ निकले हों, हर बार मां एक ही सवाल पूछती है कि घर कब आ रहे हो? आखिर माँ का यह केयरिंग रूप ही तो उसे सबसे जुदा बनाता है।

ये क्या पहन लिया ?

फैशन की रेस में कितना कॉम्पिटिशन है ये तो आपको मालूम ही है । जब भी कुछ नए कपड़े ट्राय किया जाए तो हर मां का सवाल होता है कि ये क्या पहना है? अगर आप भी नए स्टाइल्स को फॉलो करना पसंद करते हैं तो ये सवाल आपकी माँ भी जरूर पूछती होंगी। आखिर माँ अपने बच्चे को सबसे सुंदर जो देखना चाहती है।

आज खाने में क्या बनाऊं ?

चाहे आप स्कूल में हो या ऑफिस में हर मां अपने बच्चों से ये जरूर पूछेंगी कि आज खाने में क्या बनाऊं? सिर्फ अभी ही नहीं अगर आप 50 साल के भी क्यों ना हो जाएं मां का ये सवाल हर बार यही रहेगा।

तबीयत ठीक है ना ?

यह बात तो हर कोई मानता है कि जितनी केयर मां कर सकती है उतना कोई भी नहीं कर सकता। आजकल के भागदौड़ और कॉम्पटिशन वाली जीवनशैली में चेहरे पर थकान और मायूसी जब भी झलकती है तो ऐसे में माँ हमारे दिल का हाल जान लेती है। और झट से पूछती है तबीयत ठीक है ना ? लव यू माँ….आप बहुत प्यारी हो….