मंगलसूत्र पहनते समय भूलकर भी ना करे ये गलतियाँ, वरना हो सकती है पति की मृत्यु !

799
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क : वैसे तो शादीशुदा महिलाएं सुहाग की निशानी के रूप में सिन्दूर, बिछिया, अंगूठी इत्यादि चीजें भी धारण करती हैं। लेकिन इन सभी चीजों में मंगलसूत्र का महत्व सबसे अधिक होता हैं। ऐसा कहा जाता हैं कि पत्नी के गले में पहना गया मंगलसूत्र उसके सुहाग की निशानी होता हैं। इसे पहनने से पति की आयु बढ़ती हैं। इसलिए शादीशुदा महिला को इसे हमेशा धारण किए रहना चाहिए। लेकिन कई बार महिलाएं मंगलसूत्र धारण करते वक्त जाने अनजाने में कुछ गलतियां कर बैठती हैं। इन गलतियों की कीमत आपके पति को भोगनी पड़ सकती हैं। आज हम आपको एक ऐसी जानकारी देने जा रहे हैं जो स्त्री के सुहाग से एक गहरा नाता रखती है।

mangalsutra-ka-mahatv

चौंका देने वाली बात यह है कि अभी तक हम जो आदते कहीं ना कहीं करते आ रहे हैं उनका हमारे जीवन में एक गहरा प्रभाव पड़ता है। अब चाहे वह छोटी से छोटी या बड़ी से बड़ी चीज ही क्यूं ना हो। आज हम आपको मंगलसूत्र से जुड़ी कुछ ऐसे रहस्य बाते बताएंगे जो आपने पहले कभी नहीं पढ़े या सुने होंगे। यदि आप इन तरीको से मंगलसूत्र ग्रहण कर रही हैं, तो आपको यह आदतें बदलनी होंगी वरना आपके सिर से आपके सुहाग का साया हमेशा के लिए उठ भी सकता है।

यह भी पढ़ें-बच्चे कर देते है बिस्तर गीला तो करें ये आसान उपाय

यह भी पढ़ें-गर्मियों में दिल को दुरुस्त रखने के लिए जरूर खाएं ये 11 चीजें

यह भी पढ़ें-दिखने लगे यह संकेत तो समझ लीजियेगा कि जल्द शुरू होने वाला है बुरा वक्त

इन बातों का रखें ध्यान

  • आप ने अक्सर देखा होगा कि महिलाओं को एक दूसरे की चीज मांग कर पहनना अच्छा लगता हैं और वो उसे पहनने के लिए उधार मांग लेती हैं। लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दे कि शादीशुदा महिलाओं को कभी भी किसी और का मंगलसूत्र मांग कर नहीं पहनना चाहिए। ऐसा करने से पति की आयु कम होती हैं। इसलिए ऐसा करने से हमेशा बचे।

mangalsutra-2

  • जिस प्रकार एक सुहागन स्त्री के जीवन में सिंदूर बिछिया का महत्व है उसी प्रकार स्त्रियां मंगलसूत्र का भी धारण करती है जो उनके सुहाग को लंबी आयु एवं बुरी नजर से उनके पति की रक्षा करता है।
  • मंगलसूत्र का निर्माण काले मोती से होता है। सभी मंगलसूत्र में काले मोती अवश्य होने चाहिए यही काले मोती बुरी नजरों से पति की रक्षा करते हैं।
  • विवाह के समय पत्नी जिस वक्त से गले में मंगलसूत्र धारण करती है उसी वक्त से उसका मंगलसूत्र का उतारना वर्जित हो जाता है। यदि ऐसी कोई स्थिति उत्पन्न हो तो स्त्री अपने गले में काला धागा आवश्य बाँध कर रखे।
  • सभी मंगलसूत्र में सोने का रहना आवश्यक होता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि स्वर्ण गुरु के प्रभावों को कम करता है और वैवाहिक जीवन में सुख एवं ऊर्जा प्रदान करता है। इसलिए शुद्ध सोने से बना मंगलसूत्र आपके खुशहाल वैवाहिक जीवन का प्रतीक है।

अगर आप इनमें से किसी भी आदत के शिकार हैं या आपके मंगलसूत्र में किसी भी चीज की कमी है तो तुरंत इनपर सुधार करे। छोटी सी आदत आपके जीवन में बड़ा बदलाव ला सकती है।