India’s Got Talent में अगर आ जाता तो ये ही जीतता शो, कान से फुला देता है गुब्बारा…

76
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नई दिल्ली. शादी पार्टीयों के आगे जो गुब्बारे मिलते हैं उन्हें पिचकारी से फुलाया जाता है. मेलों में जो गुब्बारे बिकते हैं उनमें गैस भरी जाती है और बर्थ-डे में जो गुब्बारे फुलाए जाते हैं, उनमें हवा मुंह से भरी जाती है. अब आप कह रहे होंगे ये हमें क्यूं बता रहे हो हमे पता है. हां आपको पता है लेकिन आपके ये नहीं पता है कि एक भाई साहब हैं…जो मुंह से नहीं बल्कि कान से ही गुब्बारे फुला देते हैं.

उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में रहने वाले मणिशंकर पांडे मुंह से तो गुब्बारे फुला ही लेते हैं, साथ ही कान से भी फुला लेते हैं. वो बतातें हैं कि ये ऐसे ही नहीं होता. इसके लिए कड़ा प्रयास किया है. वो अपने फेफड़े की हवा को रोककर, नाक के बजाय कान से हवा निकाल लेते हैं. ये तो कुछ भी नहीं, पांडे जी कान से मोमबत्तियां भी बुझा लेते हैं.

सोनभद्र में कार्यक्रम छोटा हो या बड़ा.पांडे जी को हवा के प्रदर्शन के लिए जरूर बुलाया जाता है. उन्हें इलाके के नाम रौशन करने के लिए सम्मानित भी किया जा चुका है. साथ ही उनका नाम लिम्का बुक से लेकर गिनीज बुक तक में दर्ज हो चुका है. आजकल वो अपने प्रदर्शन के लिए सही मंच की तलाश कर रहे हैं.

उनके टैलेंट की एक झलक वीडियो में देखें