DMK प्रमुख एम. करुणानिधि के अंतिम संस्कार पर मद्रास हाईकोर्ट ने सुनाया ये बड़ा फैसला, पीएम मोदी भी पहुंचे चेन्नई

63
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: तमिलनाडु के पूर्व मुख्यमंत्री और DMK प्रमुख एम. करुणानिधि का 94 साल की उम्र में निधन हो गया है। उन्होंने मंगलवार शाम 6:10 बजे चेन्नई के कावेरी अस्पताल में आखिरी सांस ली। इस खबर के आते ही तमिलनाडु समेत पूरे देश में शोक की लहर दौड़ गई। डीएमके समर्थकों में मातम पसर गया। डीएमके समर्थक सड़कों पर रोते- बिलखते नजर आए।

राजाजी हॉल में रखा गया है डीएमके प्रमुख का पार्थिव शरीर

सोमवार को मेडिकल बुलेटिन में करुणानिधि की तबियत और बिगड़ने की बात कही गई थी, जिसके बाद से गोपालपुरम और चेन्नई के कावेरी अस्पताल में उनके समर्थक लगातार जुटने लगे थे। वहीं, डीएमके समर्थकों की संख्या को देखते हुए पुलिस भी हाई अलर्ट पर है। करुणानिधि के सम्‍मान में राज्‍य में 01 दिन के सरकारी अवकाश की घोषणा की गई है। चेन्‍नई और उसके आसपास की दुकानें बंद रखी गई हैं। करुणानिधि का पार्थिव शरीर राजाजी हॉल में रखा गया।

देश भर के तमाम बड़े नेता और डीएमके समर्थक करुणानिधि के अंतिम दर्शन के लिए वहां जुटने लगे हैं। राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री सहित तमाम नेताओं ने शोक जताते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है। वहीं, तमिलनाडु सरकार ने उनके निधन पर 7 दिन, जबकि कर्नाटक सरकार ने 01 दिन के राजकीय शोक की घोषणा की है।

उधर, डीएमके प्रमुख एम करुणानिधि के निधन के बाद उनके अंतिम संस्कार को लेकर खड़े हुए विवाद पर मद्राह हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुना दिया है। कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए कहा कि मरीना बीच पर ही एम करुणानिधि के अंतिम संस्कार होगा। गुरु अन्ना की समाधि के बराबर में ही उन्हें दफनाया जाएगा।

बता दें कि तमिलनाडु के पूर्व मुख्‍यमंत्री और डीएमके प्रमुख एम करुणानिधि के निधन के बाद उस वक्त विवाद खड़ा हो गया था, जब एआईएडीएमके सरकार ने एम करुणानिधि के अंतिम संस्कार लिए मरीना बीच पर जगह देने से इनकार कर दिया था। जिसके बाद मामला कोर्ट में पहुंचा।