वकील का आविष्कार बनाया “चप्पल कैमरा”, ताकि लड़कियों की स्कर्ट के अंदर की फोटो ले सके…

Facebooktwittergoogle_pluspinterest

कुछ लोग शक्ल के गंदे होते हैं तो कुछ लोग की सोच ही गंदी होती है, गंदे शक्ल वाले इंसान पर भरोसा कर सकते हैं पर जिसकी सोच ही गंदी हो उसपर विश्वास ही नहीं किया जा सकता, केरल का बाइजू नाम का शख्स इसकी मिसाल है. उसने अपनी चप्पल के अंदर कैमरा चिपकाया. ताकि वो लड़कियों की स्कर्ट के अंदर की तस्वीरें ले सके. चप्पल में छुपा हुआ कैमरा ऐसे ऐंगल में सेट करके लगाया था, जिससे कैमरा किसी लड़की के स्कर्ट के अंदर झांक सकता था और तस्वीरें खींच सकता था.

अगर इतना दिमाग किसी अच्छे आविष्कार में लगाता तो आज आइंस्टीन का बाप होता…

केरल का एक जिला त्रिशूर, यहां एक स्कूल स्तर का कला समारोह हो रहा था. कई सारी स्कूली लड़कियां और महिलाएं शिरकत कर रही थीं. ये बाइजू नाम का शख्स भी वहां आया. हाथ में फोन लेकर तस्वीरें लो, तो सबको दिखता है. आप पकड़े जा सकते हैं. ये सोचकर बाइजू ने अपनी चप्पल के ऊपर एक छेद किया. फिर उसने चप्पल के अंदर एक फोन फिट किया और सेलोटेप से उसे चिपका दिया. फोन ऐसे फिट किया गया था कि उसका कैमरा छेद के पास हो. उसने फोन को स्टील के कवर में रखा था. ताकि अगर कोई उसकी चप्पल पर पैर रखे, तो फोन न टूटे. पूरी तैयारी के साथ प्रोग्राम में पहुंचा. उसे लगा कि किसी को उसपर शक नहीं होगा. मगर दिन ढलते-ढलते आखिरकार उसकी ये नीच हरकत सामने आ ही गई.

Skirt
फोन को एक स्टील के कवर में डाला था. ताकि भीड़-भाड़ में अगर किसी का पैर चप्पल पर पड़ता भी है, तो फोन न टूटे.

बाइजू लगातार लड़कियों और महिलाओं के पास जाकर उनकी तस्वीरें खींचने की कोशिश कर रहा था. उसे लगातार अपनी जगह बदलते देखकर ही लोगों को उसके ऊपर शक हुआ. शक तब बढ़ा, जब लोगों ने नोटिस किया कि वो बार-बार अपनी चप्पल की ओर देख रहा है. बाइजू का एक बैकअप प्लान भी था. उसने अपनी जेब में एक फोन रखा हुआ था. ताकि अगर चप्पल वाले फोन की बैटरी खत्म हो जाए, तो जेब में रखा फोन काम आए.

2015 में भी ऐसा ही एक मामला सामने आया था. दिल्ली के एक वकील ने अपने जूते में कैमरा फिट कर लिया, ताकि वो लड़कियों के स्कर्ट के अंदर की तस्वीरें खींच सके. जापान में भी ऐसी कई घटनाएं सामने आ चुकी है.

loading...