पहाड़ की प्रकृति का मजा लेना है तो चले आएं नौकुचियाताल, कम दामों में मिलेंगी ये लग्जरी सुविधाएं…

158
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नैनीताल. कुमाऊं मंडल विकास निगम(KMVN) नौकुचियाताल पर्यटन को बढ़ावा देने में जुटा है, इसके लिए ब्रिटिशकालीन हरमिटेज और पांच अन्य हटों को चीड़ की स्पेशल विदेशी लकड़ी से सजाया गया है. बता दें कि 14 जनवरी( मकर संक्रांति ) से इन्हें सैलानियों को देने की तैयारी की है.

Naukuchiatal

यह भी पढ़ें-उत्तराखंड़- नैनीताल घूमने आएं , तो यहाँ मिलेंगे सस्ते होटल

केएमवीएन ने इस प्रोजेक्ट को ‘परिचय’ का नाम दिया है. साथ ही ब्रिटिशकालीन हरमिटेज आदि पांच हटों को विदेश की स्पेशल चीड़ की लकड़ी से तैयार कराया गया है. नौकुचियाताल में स्थित हरमिटेज, पांच अन्य हटों का जीर्णोद्धार एडीबी द्वारा पर्यटन संरचना विकाश निवेश के तहत 4.50 करोड़ की लागत के साथ ढाई साल में पूरा किया गया है.

इसमें एडीबी मद से हरमिटेज का जीर्णोद्धार, रेस्टोरेंट, बार, कंस्ट्रक्शन, अन्य पांच हटों को विदेश की स्पेशल चीड़ की लकड़ी से बनाया गया है. वहीं केएमवीएन ने इस हरमिटेज को 14 जनवरी उत्तरायणी के दिन से शुरू करने की पूरी तैयारी कर ली है. हरमिटेज के प्रबंधक महेंद्र सिंह राणा ने बताया की यह हरमिटेज, पांच हटों को लग्जरी बनाया गया है. पहली बार सरकारी हटों से अलग, सुंदरता के साथ तैयार कर इन्हें नया आकार दिया गया है.

यह भी पढ़ें-उत्तराखंड में बनी इस कुटिया को देश का सबसे महंगा पर्यटक स्थल कहते हैं…

हरमिटेज में मिलेंगी ये सुविधा

हरमिटेज में छह कमरे हैं, जिनका किराया पांच हजार प्रति कमरा है.

साथ ही अन्य पांच हटों का किराया 4,500 रुपये है. इन हटों में बेडरूम, लीविंग रूम, लग्जरी

सुविधाओं से सैलानियों को लुभाया जाएगा और पहाड़ी व्यंजनों से रूबरू कराया जाएगा.

साथ ही इस हरमिटेज में रेस्टोरेंट, बार की सुविधा भी सैलानियों को दी जाएगी.

सैलानियों को लुभाने के लिए कयाकिंग आदि एक्टीविटी की भी व्यवस्था की जा रही है.

14 जनवरी से केएमवीएन सैलानियों के लिए ‘परिचय’ को खोलने की पूरी तैयारी कर चुका है.

केएमवीएन के एमडी धीरज गर्ब्याल ने बताया कि नौकुचियाताल में स्थित ब्रिटिशकालीन हरमिटेज, पांच हटों को सैलानियों के लिए शीघ्र खोला जा रहा है.इसमें सैलानियों को रेस्टोरेंट, बार आदि लग्जरी सुविधाएं दी जाएंगी.