नई दिल्ली: सुबह उठने से लेकर रात सोने तक अपनाएं ये 10 नियम, हर दम रहेंगे Healthy n’ Fit

100
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क: कौन नही चाहता कि स्वस्थ रहकर जिंदगी का लुफ्त उठाया जाए। लेकिन भागदौड़ भरी जिन्दगी के चक्कर में सेहत से खिलवाड़ हो ही जाता है। ऐसे में आज हम आपसे आयुर्वेद एक्सपर्ट के बताए उन लाइफ मंत्रा को शेयर कर रहे हैं जिन्हें अपनाकर आप अपनी लाइफ को ऑसम बना सकते हैं। ऐसे में दिन की शुरूवात योगा और प्राणायाम से हो तो क्या कहने। आप किसी योग ट्रेनर की मदद से बॉडी को फिट रखने वाले योग- आसनों को आसानी से सीख सकते हैं। यकीन मानिये ऐसा करने से आप जिंदगी भर स्वस्थ और तंदरूस्त रह सकते हैं।

हमारे स्वस्थ रहने में सबसे बड़ा योगदान हमारी सांसों का भी होता है। गहरी और लंबी सांसे लेने से शरीर में आक्सीजन की मात्रा बढती है जिससे फेफड़ों की कार्यक्षमता में सुधार होगा । हर रोज एक या दो गिलास गुनगुना पानी जरूर पिएं, इससे पेट संबधी विकारों के साथ ही डाइजेशन भी सुधरेगा। और हृदयरोग संबधी खतरा भी कम होगा। आप सुबह खाली पेट भी गुनगुना पानी ले सकते हैं।

यह भी पढ़ेंनई दिल्ली: सुबह उठने से लेकर रात सोने तक अपनाएं ये 10 नियम, हर दम रहेंगे Healthy n’ Fit

यह भी पढ़ेंहेल्थ अलर्ट : इस मोबइल एप से बच जाएंगे हार्ट अटैक से, जानें कैसे करेगा काम

यह भी पढ़ेंशरीर में ये संकेत बताते हैं कि आपको हो सकता है गले का कैंसर, न करे इग्नोर

रोज सुबह का नाश्ता 7 से 9 बजे के बीच लेना बेहद जरूरी है। इससे ब्रेन एक्टिव रहने के साथ ही शरीर की ऊर्जा का स्तर भी मजबूत बना रहेगा।

अक्सर देखा जाता है कि खाने को लेकर हमारा समय निर्धारित नही होता , ऐसे में जब मन आये तब खाना खाने से कई तरह की शाररिक दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। हर रोज समय पर खाना खाने के साथ ही यह भी जरूरी है कि खाने में एक बार में एक ही तरह की चीजों को शामिल किया जाए। कई तरह की पकवान मिक्स करके खाने से पाचनसंबधी दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

अक्सर खाना खाने के दौरान देखा जाता है कि लोग गिलास भर भर के पानी पीते हैं। लेकिन यह पाचन के लिए बिल्कुल भी ठीक नही है। कोशिश करिये कि खाने खाने के करीब आधा घंटे के बाद ही पानी पीया जाये, ऐसा करने से डाइजेशन को बेहतर बनाया जा सकता है।

कई बार खाना खाने के तुरंत बाद लोग नहाने की तैयारी करने लगते हैं । कुछ तो तुरंत बिस्तर पर सोने के लिए चले जाते हैं। ये दोनों तरह की आदतें स्वस्थ शरीर के लिए बिल्कुल भी वाजिब नही हैं। खाना खाने के बाद हमेशा स्नान को अवॉइड करें और कम से कम एक छोटी से वॉक के करीब 2 से 3 घंटे के बाद ही सोने का प्रयास करें।

अक्सर लोगों को धूप से बचते हुए देखा जाता है। लड़कियाँ खासतौर पर गर्मियों के दिन में खुद को पूरी तरह से पैक कर लेती हैं। लेकिन हम आपको बता दें कि अगर आप रोजाना आधा घंटा धूप लेते हैं तो इससे विटामिन डी का लाभ ले सकते हैं। सुबह सूरज उगने के 2 से 3 घंटों में ली गई धूप बेहतर मानी जाती है। धूप लेने से शरीर के दर्दों से छुटकारा तो मिलता ही है साथ ही मांसपेशियों के बीच ब्लॉकेज भी दूर होते हैं।

अगर आप दिन भर कम्प्यूटर से जुड़े काम को करते हैं तो आप इस बात का ध्यान रखें कि आपकी कमर पूरी तरह से सीधी हो। रीढ़ की हड्डी का पॉश्चर सही रखने से आप स्लिप डिस्क जैसी गंभीर बीमारी से बच सकते हैं।

आज के भागदौड़ भरे जीवन में समय की कमी का रोना हर कोई रोता है। ऐसे में नींद के साथ भी समझौता होता है। रोजाना 8 से 9 घंटे की नींद जरूर लेने से शरीर के अंदरूनी अंगों को आराम मिलता है। साथ ही कमरे में स्वच्छ हवा के वेंटिलेशन का भी ध्यान दें।

इसके साथ ही आप तनाव से मुक्ति के लिए मेडिटेशन का भी सहारा ले सकते हैं। मेडिटेशन में वो शक्ति है जो आपके मन और मस्तिष्क को तनाव से मुक्त के साथ ही हेल्दी बनाने में भी बहुत कारगर होता है।