हल्द्वानी- पहाड़ी सड़कों पर अब फर्राटा नहीं भर पाएगी सूमो और मैक्स, स्पीड गवर्नर से लग गए ब्रेक

3897
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

हल्द्वानी-न्यूज टुडे नेटवर्क: स्पीड गवर्नर अनिवार्य करने के विरोध में कुमाऊ भर में टैक्सी चालकों ने अनिश्चित काल के लिए टैक्सी का संचालन बंद करने का ऐलान कर दिया है। जिसको लेकर आज हल्द्वानी टैक्सी स्टैंड में कुमाऊ टैक्सी महासंघ द्वारा प्रशासन के खिलाफ जमकर नारे बाजी कर विरोध प्रदर्शन किया गया। प्रशासन के फैसले से नाराज टैक्सी चालकों का कहना है कि स्पीड गवर्नर लगाकर टैक्सी स्पीड 80 किलो मीटर तय करदी गई है। जो पूरी तरह नाजायज है।

 

टैक्सी चालकों का आरोप है कि शासन द्वारा केवल टैक्सी चालकों  के लिए स्पीड गवर्नर की बाध्यता की जा रही है जबकि प्राईवेट गाड़ियों के लिए ऐसा कोई नियम नहीं है।

जानें क्या है स्पीड गवर्नर

बता दें स्पीड गवर्नर टैक्सी की स्पीड को नियंत्रित करने वाली एक इलेक्ट्रानिक डिवाइस है। इसको गाड़ी के गेयर बॉक्स से जोड़ा जाता है। जिसके बाद गाड़ी को निर्धारित स्पीड पर ही चलाया जा सकता है।

टैक्सी चालक संतोष शर्मा ने बताया कि स्पीड गवर्नर के लगने से टैक्सी चालकों की स्पीड काफी कम हो जाती है। जिसके चलते इमरजेंसी के दौरान टैक्सी चालको को काफी परेशानी होगी। इनके अनुसार पहाड़ो में टैक्सी की स्पीड 40-45 किलो मीटर प्रति घंटा रहती है जिसके बाद भी पुलिस द्वारा इनका चालान किया जाता है। संतोष का कहना है कि यदि प्रशासन द्वारा टैक्सी चालको को हो रही परेशानियों का जल्द समाधान नहीं किया गया तो इनकी हड़ताल जारी रहेगी। वहीं नुकसान का भुगतान सरकार को भुगतना पड़ेगा।