हल्द्वानी- सीएम से लेकर मंत्री तक लगाई गुहार, पुलिसिया चालान से लोहा व्यापारी हुए हलकान, अब करेंगे आन्दोलन

538
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क: हाइकोर्ट का एक आदेश इन दिनों हल्द्वानी लोहा व्यापार मंडल के लिए मुसीबत का सबब बन गया है। उस पर प्रदेश सरकार द्वारा इस मामले में कोई समाधान वाली पहल ना होने से अब लोहा व्यापार से जुड़े हजारों व्यापारियों और कर्मचारियों के सामने रोजी -रोटी का संकट खड़ा हो गया है।

ऐसे में अब हल्द्वानी लोहा व्यापार मंडल ने आर-पार की लड़ाई का ऐलान कर दिया है। आपको बता दें कि बीते दिनों हाइकोर्ट ने अपने एक आदेश में भारी माल वाहनों की बॉडी से बाहर एंगल , सरिया , पाइप निकलने पर कानूनी कार्रवाही के आदेश जारी किए । इस आदेश के क्रम में हल्द्वानी पुलिस द्वारा आए दिन ऐसे वाहनों का चालान किया जा रहा है। ऐसे में इस व्यापार से जुड़े लोगों में रोष पनप रहा है।

व्यापारियों का कहना है कि वह भी हाइकोर्ट के आदेश का सम्मान करते हैं लेकिन हाइकोर्ट ने अपने आदेश में यह भी कहा है कि लम्बे माल के परिवहन के सम्बन्ध में उत्तराखंड सरकार कोई नियमावली बनाए, लेकिन सरकार इस दिशा में कोई कदम बढाते नही दिख रही है।यही वजह है कि इस व्यवसाय से जुड़े लोगों के ऊपर रोजी-रोटी का संकट खड़ा हो गया है।

प्रेसवार्ता के माध्यम से अपनी परेशानियों से रूबरू करवाते हल्द्वानी लोहा व्यापार मंडल के पदाधिकारी

सीएम से लेकर स्थानीय प्रशासन को सुना चुके हैं अपना दर्द

हल्द्वानी लोहा व्यापार मंडल के अध्यक्ष आनन्द कुमार अग्रवाल और महामंत्री दीपक जैन ने बताया कि इस संबध में व्यापारियों का प्रतिनिधि मंडल एसपी सिटी, सीपीयू प्रभारी ,सीओ, पुलिस महानिरीक्षक और परिवहन अधिकारियों से मुलाकात कर अपनी समस्या से अवगत करा चुका है।

यही नही सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत, परिवहन मंत्री यशपाल आर्य और परिवहन सचिव से भी मुलाकात कर ये बताया गया है कि भवन निर्माण में प्रयुक्त होने वाली अधिकांश सामग्री जैसे- एंगल, सरिया, पाइप आदि की लंबाई लगभग 20 फुट होती है। इनका परिवहन किसी भी प्रकार के वाहन की बॉडी के अंदर करना असंभव है। ऐसे में पुलिस और प्रशासन व्यापारियों के हित में समाधान खोजने के बजाय मात्र चालान काटकर अपना फर्ज निभा रहे हैं।

व्यापारी ही नही आम आदमी की भी बढ रही हैं मुश्किल

व्यापार मंडल के पदाधिकारियों ने कहा कि लोहा व्यापार से जुड़े वाहनों का चालान कटने से व्यापार बुरी तरह प्रभावित हो रहा है। वहीं व्यापारियों के समक्ष सेल्स टैक्स, इनकम टैक्स, बैंक से लिए कर्ज का ब्याज और वाहनों की किस्त भरना कठिन हो गया है। यही नही इस वजह से आम आदमी का भी घर बनाने का काम भी रूक गया है। वहीं निर्माण की लागत भी बढती जा रही है।

सिर्फ हल्द्वानी है सख्ती बाकि शहरों में नहींं

व्यापारियों ने कहा कि सिर्फ हल्द्वानी शहर में ही पुलिस और प्रशासन सख्त है जबकि दूसरे शहरों में इतनी सख्ती नही है, वहाँ पर लोहा व्यापार के परिवहन का कार्य सुचारू रूप से चल रहा है। व्यापारियों से उग्र होकर चेतावनी दी है कि अगर उनके हितों को ध्यान में रखकर जल्द कोई समाधान नही खोजा गया तो हल्द्वानी लोहा व्यापार मंडल से जुड़े तमाम व्यापारी और कर्मचारी आन्दोलन को बाध्य होंगे जिसकी पूरी जिम्मेदारी पुलिस, प्रशासन और राज्य सरकार की होगी।