हिन्दुस्तान की इस अनोखी शादी में जुट रहे हैं देश भर से दुल्हे, दुल्हन को अब तक नही आया कोई पसंद

454
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

इंदौर- न्यूज टुडे नेटवर्क: देश में अपने आप की यह अनूठी शादी है। क्योंकि इस  शादी को सम्पन्न करने में देश की सरकार अहम भूमिका निभा रही है। शादी में दूल्हा कौन होगा ये अभी तक पता नही लेकिन दुल्हन कौन है यह सबको पता है। आइये अब आपको इस स्पेशल शादी के बारे में विस्तार से बताते हैं। पाकिस्तान से लौटी गीता के विवाह के लिए वर चयन की प्रक्रिया आज इंदौर में शुरू हो गई है। मध्‍य प्रदेश के इंदौर में आज से 2 दिवसीय स्‍वयंवर में गीता अपना जीवनसाथी चुनेंगी। देशभर से आए कई बायोडाटा में से 14 लड़के फाइनल किए गए। आज गीता ने सिर्फ चार लड़कों से बात की और उनमें से उन्‍हें कोई भी पसंद नहीं आया।

बता दें कि साल 2015 में विदेश मंत्रालय ने गीता की पाकिस्‍तान से घर वापसी कराई थी। इस बीच कई लोगों ने गीता के माता-पिता होने का दावा किया जिसके लिए सरकार ने डीएनए टेस्‍ट भी कराए। लेकिन अभी तक गीता के पैरेंट्स का पता नहीं चल पाया है।

गीता

गीता से विवाह के इच्छुक 4 युवकों को अपनी बात रखने के लिए 10 मिनट का समय दिया गया था। फिलहाल 4 युवक गीता के समक्ष विवाह का प्रस्ताव लेकर आए। परदेसीपुरा के मुक-बधिर प्रशिक्षण केंद्र में विवाह योग्य युवकों से चर्चा की गई। गीता को कोई भी वर पसंद नहीं आया। अब शुक्रवार को बाकी के बचे लड़कों से गीता फिर से मिलेंगी।

गीता को चाहिए 8वां वचन

गीता की शादी को लेकर विदेश मंत्रालय खुद सारी देखरेख कर रहा है। शुरुआत में बायोडाटा भेजने वाले 30 लड़कों में से गीता ने 14 लड़कों के बायोडाटा को स्‍वयंवर के लिए सेलेक्‍ट करके विदेश मंत्रालय भेजा था। गीता फिलहाल मूक-बधिर सेंटर में रह रही हैं। गीता ने शादी करने के लिए एक अनोखी शर्त रखी है। गीता उसी लड़के को अपना जीवनसाथी बनाएंगी जो शादी में उन्‍हें 8 वें वचन के रूप में उनके माता-पिता को ढूंढने का काम करेगा।

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के साथ गीता (फाईल फोटो)

देश के इन प्रदेशों से आए हैं लड़के

गीता से शादी करने के लिए आए बायोडाटा लिस्‍ट में किसान से लेकर सॉफ्टवेयर इंजीनियर तक शामिल हैं। गुरुवार को जो युवक गीता से मुलाकात करेंगे, उनमें पैरों से दिव्यांग, पूरी तरह मूक-बधिर, आंशिक मूक-बधिर और सामान्य भी हैं। देश के मध्य प्रदेश के इंदौर, भोपाल, टीकमगढ़, उत्तर प्रदेश के मथुरा, आगरा, अलीगढ़ और राजस्थान, दिल्ली, गुजरात और बिहार जगहों से आए लड़के शामिल हैं। यह स्वयंवर इंदौर के परदेशीपुरा स्थित समाजकल्याण परिसर में प्रशासनिक अधिकारियों की मौजूदगी में होगा।