क्या आप भी दही में नमक डालकर खाते हैं तो जरूर पढ़ें यह खबर !

128
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नई दिल्ली-न्यूज टुडे नेटवर्क : दही को सूपर फूड भी कहा जाता है इसलिए दोपहर का भोजन यानी लंच के साथ एक कटोरी दही का सेवन सबसे सही बताया गया है. और इसके स्वस्थ लाभ के कारण पूरी दुनिया के लोग इसे बहुत चाव से खाते हैं. क्योंकि इसमें कुछ ऐसे रासायनिक पदार्थ होते हैं, जिसके कारण यह दूध की तुलना में जल्दी पच जाता है. जिससे लोगों को पेट की परेशानियां, जैसे अपच, कब्ज, गैस आदि बीमारियों से निजात मिलती हैं। इसमें पाचन को अच्छा करने वाले गुड बॅक्टीरिया पाए जाते हैं साथ ही इसमे उच्च क्वालिटी का प्रोटीन भी पाया जाता है। आगे पढ़िए दही से होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में …

dahi

नमक के साथ दही खाना है नुकसानदेह

आयुर्वेद में कहा गया है कि दही में ऐसी चीजें मिलाएं, जो कि जीवाणुओं को बढ़ाये ना कि उन्हें मारे या खत्म करे। कभी भी आप दही को नमक के साथ मत खाईये। दही को अगर खाना ही है, तो हमेशा दही को मीठी चीजों के साथ खाना चाहिए, जैसे कि चीनी के साथ, गुड के साथ, बूरे के साथ आदि। इस क्रिया को और बेहतर से समझने के लिए आप दही को लेंस से देखें तो आपको छोटे-छोटे हजारों बैक्टीरिया नजर आएंगे। ये बैक्टीरिया जीवित अवस्था में आपको इधर-उधर चलते फिरते नजर आएंगे। ये बैक्टीरिया जीवित अवस्था में ही हमारे शरीर में जाने चाहिए, क्योंकि जब हम दही खाते हैं तो हमारे अंदर एंजाइम प्रोसेस अच्छे से चलता है।

मीठा दही है बहुत ही फायदेमंद

दही को आयुर्वेद की भाषा में जीवाणुओं का घर माना जाता है। अगर एक कप दही में आप जीवाणुओं की गिनती करेंगे तो करोड़ों जीवाणु नजर आएंगे। अगर आप मीठा दही खायेंगे तो ये बैक्टीरिया आपके लिए काफी फायेदेमंद साबित होंगे। वहीं अगर आप दही में एक चुटकी नमक भी मिला लें तो एक मिनट में सारे बैक्टीरिया मर जायेंगे और उनकी लाश ही हमारे अंदर जाएगी जो कि किसी काम नहीं आएगी। अगर आप 100 किलो दही में एक चुटकी नामक डालेंगे तो दही के सारे बैक्टीरियल गुण खत्म हो जायेंगे

gud

गुड़ के साथ खाएं दही होंगे बहुत से फायदे

आयुर्वेद में कहा गया है कि दही में ऐसी चीजें मिलाएं, जो कि जीवाणुओं को बढ़ाये ना कि उन्हें मारे या खत्म करे। दही को गुड़ के साथ खाईये। गुड़ डालते ही जीवाणुओं की संख्या मल्टीप्लाई हो जाती है और वह एक करोड़ से दो करोड़ हो जाते हैं। थोड़ी देर गुड मिला कर रख दीजिए। बूरा डालकर भी दही में जीवाणुओं की ग्रोथ कई गुना ज्यादा हो जाती है। मिश्री को अगर दही में डाला जाये तो ये सोने पर सुहागे का काम करेगी। भगवान कृष्ण भी दही को मिश्री के साथ ही खाते थे। पुराने समय के लोग अक्सर दही में गुड़ डाल कर दिया करते थे।