OMG! दिल्ली से आया एक फोन कॉल और उत्तराखंड की 6 शादियां रूक गई

625
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

[न्यूज टुडे नेटवर्क]. उत्तराखंड के चंपावत जिले के मझेड़ा गांव में एक फोन कॉल से 6 शादियां रूक गई. जी हां, नाबालिग लड़कियों की शादी कराए जाने को लेकर पुलिस के पास एक फोन कॉल आया जिससे पुलिस ने तुरंत एक्शन लिया और मझेड़ा गांव की छह लड़कियों की शादी रोक डाली. हाईस्कूल प्रमाण पत्र के हिसाब से सभी लड़कियां नाबालिग हैं. सभी शादियां एक महिने में होने जा रही थी. तीन शादियां तो पुलिस ने रूकवाई और बाकि तीन शादियां ग्राम प्रधान व परिजनों ने ही रूकवा दी.

चंपावत पुलिस की निर्भया सेल के पास रविवार को सुबह दिल्ली से एक गुमनाम फोन आया. फोन करने वाले ने बताया कि मझेड़ा गांव में एक नाबालिक लड़की की शादी कराई जा रही है. इस पर हरकत में आई कोतवाली पुलिस जांच करने सोमवार को गांव पहुंची तो पता चला कि गांव में 17,19 व 21 अप्रैल को तीन शादियां होनी हैं.

17 अप्रैल वाली शादी में सोमवार को महिला संगीत होना था. सभी रिश्तेदार भी पहुंच चुके थे. बरात बनबसा से आनी थी. पुलिस ने जब प्रमाण पत्र खंगाले तो आधार कार्ड के अनुसार लड़की बालिग निकली, लेकिन हाईस्कूल सार्टिफिकेट के हिसाब से नाबालिग. सोमवार को परिवार रजिस्टर चेक किया गया तो उसमें भी उम्र 18 साल से कम पाई गई. 19 अप्रैल को होने वाली शादी में लड़की दो माह बाद बालिग होगी, जबकि 21 अप्रैल को होने वाली शादी में लड़की एक साल बाद बालिग होगी.

इसके बाद कोतवाल सलाहउद्दीन ने सभी अभिभावकों के लिखित आश्वासन लिया कि बालिग होने पर ही लड़कियों की शादी की जाएगी. चंपावत के एसपी धीरेंद्र गुंज्याल ने बताया कि ग्रामीणों को नाबालिगों की शादी को लेकर चेताया भी गया है.

यह भी पढ़े- होटल के कमरे में यौन शक्ति बढ़ाने वाला इंजेक्शन लगाने से प्रेमिका की मौत, प्रेमी फरार

यह भी पढ़े- Viral Video: इस लड़की का हॉट डांस देखकर इंटरनेट भी बोला- बस कर

यह भी पढ़े- देखें वीडियो: टल्ली टीचर ने स्कूल में की ऐसी हरकत, लड़कियों ने ढक लिया अपना मुंह