VIDEO: देहरादून- शिक्षिका के मुंह से निकले ऐसे बोल, सीएम त्रिवेन्द्र हो गए गुस्से में लाल…फिर जो हुआ

1468
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

देहरादून- न्यूज टुडे नेटवर्क: जनता की परेशानियों को सुनने की खातिर आज सुबह सूबे के मुखिया त्रिवेन्द्र सिंह रावत का जनता दरबार लगा हुआ था। बारी -बारी से लोग अपनी परेशानियों से सीएम त्रिवेन्द्र को रूबरू करवा रहे थे। तभी अचानक एक महिला ने सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत के सामने आई और उन्हें बुरा भला कहने लगी।

अपनी मांग पर कार्रवाई ना होने से गुस्साई महिला शिक्षिका ने सीएम पर निकाला गुस्सा

 देखें VIDEO-

गुस्से में तमतमाई महिला की पहचान उत्तरा पंत बहुगुणा के रूप में हुई जो बतौर शिक्षिका उत्तरकाशी के दुर्गम क्षेत्र में प्राथमिक विद्यालय में तैनात हैं। लोगों से भरे हॉल में जब महिला ने सीएम के खिलाफ अपने गुस्से का इजहार किया तो सीएम भी गुस्से से भर उठे।

दे डाला बाहर खदेड़ने और सस्पेंशन का आदेश

अपने खिलाफ महिला द्वारा अमर्यादित भाषा का प्रयोग होता देख सीएम ने तुरंत अधिकारियों को महिला को सस्पेंड करने के आदेश दे दिए। सीएम को गुस्से में देख पुलिस भी हरकत में आ गई। सीएम ने जैसे ही महिला को बाहर निकालने और कस्टडी में लेने का आदेश दिया तुरंत पुलिस अधिकारियों ने उन्हें बाहर की तरफ खदेड़ दिया।

इस दौरान तमाम मीडिया के कैमरे जो सीएम की तरफ फोकस किए हुए थे , वो भी शिक्षिका की तरफ मुड़ गए। जानकारी के मुताबिक सीएम त्रिवेन्द्र को गरियाने वाली शिक्षिका काफी लंबे समय से उत्तरकाशी से देहरादून ट्रांसफर की मांग कर रही थी। शिक्षिका के मुताबिक पति की मृत्यु के बाद उसने उत्तरकाशी के दुर्गम क्षेत्र के बजाय देहरादून में तबादला करने की कई बार गुहार लगाई लेकिन किसी ने उसकी एक ना सुनी।

इस बीच वहाँ मौजूद लोगों ने कहा कि शिक्षिका द्वारा न्याय पाने के लिए सीएम के खिलाफ अमर्यादित भाषा का प्रयोग करना जायज नही ठहराया जा सकता है। फिलहाल ऐसा करके शिक्षिका ने अपने पैरों पर ही कुल्हाड़ी मारने का काम किया है।