यहां 5 रू में मिलता है ‘देशी घी’ से बना भर-पेट खाना, “दादी की रसोई” जरूर जाना

2079
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

[न्यूज टुडे नेटवर्क](चयन राजपूत) इस दुनिया में ऐसे बहुत से लोग हैं जिन्हें दो वक्त का खाना खाने के लिए भी बहुत मेहनत करनी पड़ती है. अपने भारत में ही देख लिजिए. हमारे देश में लगभग 20 करोड़ लोग रोजाना भूखे सोते हैं. वहीं दिल्ली के एनसीआर नोएडा में एक ऐसा भी परिवार है जो भूखो को खाना खिलाता है. भीख देकर नहीं बल्कि पूरी इज्जत से सिर्फ 5 रूपये प्लेट. जिसका नाम है ‘दादी की रसोई’. ‘दादी की रसोई’ सिर्फ आर्थिक रूप से कमजोर लोगो को पेट भर खाना ही नहीं खिलाती बल्कि उनके आत्म सम्मान को ठेस भी नहीं पहुंचने देती.

नोएडा सेक्टर-29 में ‘दादी की रसोई’

आसमान छूती महंगाई के इस जमाने में दादी के हाथ जैसा शुद्ध देसी घी में बना खाना. नोएडा सेक्टर-29 में गंगा कॉम्पलैक्स के पास ‘दादी की रसोई’ का खाना मात्र 5 रूपये में लोगो को खिलाया जाता है. ऑफिस वर्कर से लेकर सिक्यॉरेटी गार्ड, पार्क में काम कर रहे माली तक यहां पूरी इज्जत के साथ खाना खाते हैं. बता दें कि दोपहार 12 बजे से लेकर 2 बजे तक यहां करीब रोज 400 लोग खाना खा जाते हैं.

यह भी पढ़े- दिल्ली के इस रेस्तरां में 50 Min. में 3 पराठे खाने पर उम्र भर खाना फ्री,क्या आपने ट्राई किया…

‘दादी की रसोई’ एक मानव सेवा

दादी की रसोई चलाने वाले अनूप खन्ना बताते हैं कि उनकी मां की इच्छा थी की गरीबो का खाना खिलाया जाए. उन्होंने बताया की ‘दादी की रसोई’ शुद्ध देसी घी के तड़के वाली दाल और बासमती चावल से स्टार्ट हुई थी. और आज यहां लोगो को खाने के लिए अचार की व्यवस्था और हर रोज अलग-अलग मेन्यू होता है.

खाना खाने के लिए है एक-शर्त

अनूप खन्ना बताते हैं कि हमारा सिर्फ एक ही मकसद है आर्थिक रूप से कमजोर लोगो को खाना खिलाना. और शर्त ये है कि खाना खाने के लिए पैसे खुले लेकर आने होंगे.

यह भी पढ़े- लड़की को अकेला पाकर पुलिस वाले ने नंबर मांगा, लड़की ने थोपड़ा बिगाड़ दिया

यह भी पढ़े- कास्टिंग काउच के विरोध में इस एक्ट्रेस ने बीच सड़क पर उतार दिए अपने कपड़े, देखते रहे सब

यह भी पढ़े- उर्वशी रौतेला बोली शादी करूंगी तो अपने से दोगुने उम्र के इस हॉट एक्टर से