हल्द्वानी से “इंडेन की घटतौली वाला सिलेंडर” पहुंचा सीएम त्रिवेन्द्र के पास, मचा हडकंप

1640
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

हल्द्वानी– न्यूज टुडे नेटवर्क: कुमाऊं के द्वार हल्द्वानी में इंडेन उपभोक्ताओं के हक पर डाका डालने वाले घटतौलीबाजों की करतूत अब सूबे के मुखिया त्रिवेन्द्र सिंह रावत के सामने बेपर्दा हो गई है। दरअसल हल्द्वानी और आसपास के ग्रामीण इलाकों में कुमाऊं मंडल विकास निगम के अधीन ,प्राइवेट ठेकेदारों के द्वारा बांटी जाने वाली इंडेन गैस की घटतौली की शिकायत को हल्द्वानी के लालड़ांठ निवासी संजय पाठक ने समाधान पोर्टल के माध्यम से सीएम त्रिवेन्द्र के सामने रखा था। जिस पर सचिव , सुराज, भ्रष्टाचार उन्मूलन एवं जन सेवा ने संज्ञान लेते हुए डीएम नैनीताल को उचित कार्रवाई करने का आदेश जारी किया।

डीएम नैनीताल के आदेश पर कुमाऊं मंडल विकास निगम लिमिटेड के महाप्रबंधक त्रिलोक सिंह मर्तोलिया ने हल्द्वानी गैस सर्विस के प्रबंधक रवि मेहरा से इस मामले में स्पष्टीकरण मांगा है। वही मामले की गंभीरता को देखते हुए वितरण अधिकारी नैनीताल गोपाल सिंह बिष्ट को इंडेन की घटतौली के विषय में जांच अधिकारी नियुक्त किया गया है, जो एक हफ्ते के भीतर अपनी जांच रिपोर्ट पेश करेंगे।

यह भी पढें- हल्द्वानी: इंडेन के घटतौलीबाजों पर सिटी मजिस्ट्रेट का छापा, पीलीकोठी में लम्बे समय से कर रहा था गैस की चोरी

यह है मामला

हल्द्वानी के शहरी और ग्रामीण इलाकों में KMVN द्वारा 2 प्राइवेट ठेकेदारों के माध्यम से बांटी जाने वाली इंडेन गैस में बढती घटतौली की शिकायत हल्द्वानी के लालडांठ क्षेत्र निवासी संजय पाठक ने विगत 16 मार्च को समाधान पोर्टल के माध्यम से सीएम त्रिवेन्द्र से की थी। जिस शिकायत का 23 मार्च 2018 को सचिव , सुराज, भ्रष्टाचार उन्मूलन एवं जन सेवा द्वारा संज्ञान में लेते हुए डीएम नैनीताल को आवश्यक कार्यवाही के निर्देश दिये गये थे। 23 मार्च को ही समाधान पोर्टल के माध्यम से डीएम नैनीताल ने KMVN के प्रबंधक निदेशक को मामले की गंभीरता को लेते हुए पांच दिन के भीतर दिनाँक 28 मार्च तक कार्रवाई करने के आदेश दिये थे।


लेकिन इस मामले में 2 हफ्ते बाद कार्रवाई करते हुए KMVN के महाप्रबंधक त्रिलोक सिंह मर्तोलिया ने 4 अप्रैल को हल्द्वानी गैस सर्विस के प्रबंधक रवि मेहरा से स्पष्टीकरण मांगा और 5 अप्रैल को इंडेन की घटतौली की जांच करने के लिए वितरण अधिकारी गोपाल सिंह बिष्ट को नियुक्त किया।KMVN के महाप्रबंधक द्वारा जांच अधिकारी को 1 सप्ताह के भीतर घटतौली के काले खेल की जांच करने के आदेश दिये गये हैं। उधर इस प्रकरण के सामने आने के बाद इंडेन के घटतौलीबाजों में हड़कंप मच गया है।

यह भी पढें- हल्द्वानी- आखिर कब तक कटेगी लाखों गैस उपभोक्ताओं की जेब ? फिर पकड़ में आया इंडेन का ये कालाबाजारी

KMVN ने कभी नही ली घटतौली की सुध

भले ही इंडेन की घटतौली का यह मामला सीएम त्रिवेन्द्र के पास पहुंचने के बाद कुमाऊं मंडल विकास निगम ने जांच करने की कार्रवाई की हो लेकिन यह भी सच है कि अगर समय रहते KMVN गैस के घटतौलीबाजों की करतूतों पर अंकुश लगाने के कदम उठाता तो आज दिन तक आम उपभोक्ताओं को घटतौलीबाजों की लूट का सामना नही करना पड़ता। इंडेन की होम डिलीवरी वाहनों में घटतौली के प्रकरण आये दिन सामने आते रहते हैं।

लंबे समय से इंडेन की घटतौली की समस्या को प्रमुखता से उठाने वाले हल्द्वानी लालडांठ निवासी संजय पाठक की शिकायत पर केएमवीएन के महाप्रबंधक त्रिलोक सिंह मर्तोलिया ने कुछ इस तरह रखा पक्ष

लेकिन किसी भी मामले में KMVN द्वारा कोई ठोस कार्रवाई नही की जाती। हल्द्वानी में इंडेन के होम डिलीवरी वाहनों में घटतौली के इस काले खेल को न्यूज टुडे नेटवर्क के माध्यम से हल्द्वानी गैस सर्विस के प्रबंधक रवि मेहरा के संज्ञान में लाया गया था लेकिन कोई कार्रवाई नही हुई। यही वजह है कि आम गैस उपभोक्ता के हक पर डाका डालते गैस चोरों के हौंसले हल्द्वानी में बुलंद होते गए। अब देखना होगा कि सीएम त्रिवेन्द्र तक समाधान पोर्टल के माध्यम से पहुंचे घटतौली के काले खेल के सामने आने के बाद कुमाऊं मंडल विकास निगम घटतौली रोकने की दिशा में क्या कारगर कदम उठाता है। जिससे आम उपभोक्ताओं का हक सुरक्षित रह सके और उन्हें पूरे वजन का सिलेंडर मिल सके।

पूर्ति विभाग का होना ना होना एक बराबर

हल्द्वानी में इंडेन गैस की घटतौली के इस काले खेल से हर आमोखाश पीड़ित है लेकिन घटतौलीबाजों की करतूतों को लगाम लगाने और बेनकाब करने में पूर्ति विभाग हमेशा से बौना नजर आता है। ऐसा भी हम यूं ही नही कह रहे। बीते अगस्त के महीने में पीलीकोठी में सड़क किनारे ट्रक के माध्यम से इंडेन की सप्लाई करने वाले घटतौलीबाजों की करतूत सिटी मजिस्ट्रेट पंकज उपाध्याय की मौजूदगी में बेनकाब हुई थी। बावजूद इसके आज दिन तक पीलीकोठी क्षेत्र में वही ट्रक और वही घटतौलीबाज अपना काला खेल खेलने में मशगूल हैं।

घटतौलीबाजों की इस करतूत को “न्यूज टुडे नेटवर्क” टीम ने पूर्ति निरीक्षक रवि सनवाल के समक्ष भी रखा लेकिन कभी भी पूर्ति विभाग को कोई कार्रवाई इस मामले में नही हुई। ऐसे में समझा जा सकता है कि आखिर क्यों हल्द्वानी के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में घटतौलीबाजों की इरादे इतने बुलंद हैं।