नई दिल्ली- एक ही परिवार की 11 मौतों पर सामने आया ‘पाइप कनेक्शन’, और भी गहराया रहस्य

286
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नई दिल्ली : न्यूज टुडे नेटवर्क- राजधानी दिल्ली के बुराड़ी क्षेत्र के संतनगर इलाके में घर के 11 सदस्यों के एक साथ फांसी के फंदे में लटके मिलने की खबर ने पूरे देश को चौंका दिया। हर कोई यही सोच रहा है कि आखिर ऐसा क्या हुआ कि घर के सभी सदस्यों ने एक साथ मौत को गले लगा लिया। पुलिस और फोरेंसिक टीमें अपनी जांच में जुटी हुई हैं।

घर की दीवार पर मौजूद 11 पाईप , जो अंधविश्वास की कहानी को बयां कर रहे हैं

इस बीच परिवार के 11 शवों की मौत से जुड़ा एक पाइप कनेक्शन सामने आया है। दरअसल जिस घर में मौत का यह खेल खेला गया उस घर के सामने वाले हिस्से में दीवार पर ग्यारह पाइप निकली हुई दिखाई दी हैं। यह पाइप क्यों निकली है, इस बारे में आसपास के लोग कुछ भी नहीं बता पा रहे हैं। पुलिस को भी इन पाइपों को दीवार पर लगाने का कोई कारण नजर नहीं आ रहा है।

कहीं ये अंधविश्वास के पाइप तो नहीं

दीवार में लगी इन पाइपों को लगाने के तरीके को अंधविश्वास से जोड़ कर भी देखा जा रहा है। माना जा रहा है कि एक पाइप दीवार के सबसे ऊपर है जो इस घर की मुखिया नारायण देवी के प्रतीक के तौर पर माना जा रहा है। वहीं बाकी 6 पाइप मुड़े हुए हैं जो घर की महिलाओं की ओर इशारा करती है। चार पाइप सीधे है जो घर के पुरुष सदस्यता की ओर इशारा कर रहे हैं। ऐसे में जांच में यह भी पता लगाया जा रहा है कि आखिर इन पाइपों को लगाने का मकसद क्या हो सकता है।

कुछ इस तरह परिवार के 11 सदस्यों के शव फंदे में लटके मिले थे

हत्या या आत्महत्या

परिवार के नजदीकी रिश्तेदार प्रवीन मित्तल ने मोक्ष के नाम पर आत्महत्या की बात को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि कुछ साल पहले ललित की हादसे में आवाज़ चली गई थी उसके बाद एक रात उनके सपने में बाबा आए जिन्होंने पूजा पाठ करने को कहा। इसके बाद से वो पूजा करने लगे और उनकी आवाज़ वापस आ गई थी। पूरा परिवार हनुमान जी की पूजा करता था। सभी राजस्थान के हैं इस लिए बालाजी को मानते थे। वहीं आसपास के लोगों ने कहा कि यह मामला धार्मिक एंगल का नहीं हो सकता है और हत्या के बाद इसे आत्महत्या देने की कोशिश की गई है।