हल्द्वानी के इस अस्पताल में बम की तरह फटा एसी कंप्रेशर, मची चीख -पुकार

3825
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेवटर्क: नैनीताल रोड स्थित कृष्णा हाॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में एसी के कंप्रैशर में विस्फोट हो गया। तेज धमाके के साथ फटे एसी के कंप्रेशर की चपेट में 3 युवक भी आ गए। धमाके की तेज आवाज से अस्पताल में अफरातफरी मच गई। बताया जा रहा है कि एसी कंप्रैशर की मैंटिनेंस के दौरान यह हादसा हुआ।

हादसे में घायल Ask aircon कंपनी के प्रॉपराइटर अवतार सिंह का उपचार करते डॉक्टर

गैस रीफिलिंग के दौरान फट पड़ा एसी कंप्रेशर 

अस्पताल सूत्रों के मुताबिक लंबे समय से अस्पताल के एक वार्ड के भीतर का एसी ठीक से काम नही कर रहा था। जिस कारण प्रॉपर कूलिंग नही हो पा रही थी। इसी के चलते अस्पताल प्रबंधन द्वारा एसी की मेंटिनेंस के लिए Ask aircon कंपनी के प्रॉपराइटर अवतार सिंह को बुलाया गया था।

एसी का कंप्रेशर फटने से दो अन्य कर्मचारी लक्ष्मण और गोपाल भी घायल हो गए

जिस वक्त कंप्रैशर में तेज विस्फोट हुआ उस वक्त अवतार सिंह अपने 2 कर्मचारी गोपाल और लक्ष्मण के साथ कंंप्रेशर की मरम्मत कर रहे थे। इस दौरान गैस रिफिलिंग के दौरान अचानक कंप्रेशर फट पड़ा। और तीनों बुरी तरह जख्मी हो गए। विस्फोट इतना भयंकर था कि अस्पताल में भर्ती बीमारों और तीमारदारों के बीच चीख -पुकार मच गई। हर कोई घबरा गया। तुरंत घायलों को अस्पताल में भर्ती कराया गया।

इसी दीवार पर लगा हुआ था एसी कंप्रेशर

कृष्णा हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर के निदेशक डॉ. जे.एस.खुराना ने बताया कि हादसे में घायल तीनों कर्मचारियों को तुरंत ईलाज मुहैय्या कराया गया। एक घायल कर्मचारी को आईसीयू और दूसरे को एनआईसीयू में भर्ती कराया गया है। वहीं घायल अवतार सिंह की हालत ठीक है, उन्हें बहुत जल्द डिस्चार्ज कर दिया जाएगा।

ऐसे काम करता है एसी का कंप्रेशर

एयर कंडीशनर के अमूमन तीन घटक होते हैं, जो वातानुकूलन की पूरी प्रक्रिया में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं: कंप्रेसर , कंडेनसर और एवापोरेटर। इन सभी घटकों के माध्यम से हवा गुजरती हैं और ठंडी और आरामदायक होकर बाहर आती है।

इन सभी घटकों में, कंप्रेसर रेफ्रिजराँत को कंप्रेस कर एक उच्च दबाव वाला तरल पदार्थ में बदलता हैं, रेफ्रिजराँत जो की एक अधिक तापमान वाला तरल पदार्थ होता हैं, जब यह कंप्रेसर से होकर गुजरता हैं जो इससे गर्मी को बाहर लाता हैं, और उसे आस-पास निकासित कर देता हैं| यह उच्च दबाव वाला तरल पदार्थ, अंत में कमरे में बाष्पीकरण (एवापोरेशन) प्रक्रिया के माध्यम से, एक एक्सपेंशन वाल्व से गुजरता हैं, जो गैस को ठन्डे तरल में बदलता हैं और कमरे में ठंडा और आरामदायक वातावरण उत्पन्न करता हैं|

अब यह स्पष्ट है कि एक कंप्रेसर संपूर्ण एयर कंडीशनिंग सिस्टम में एक प्रमुख भूमिका निभाता है। एक उच्च तापमान तरल पदार्थ (रेफ्रिजराँत गैस), कैसे एक उच्च दबाव वाले तरल पदार्थ में परिवर्तित होता हैं, ऐसा कर पाना कंप्रेसर के द्वारा ही सुनिश्चित होता हैं|