उत्तराखंड़- कारोबारी के ‘सुसाइड’ से डर गई सरकार ! लिया एक नया फैसला

80
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

देहरादून- प्रदेश कार्यालय में भाजपा कोर ग्रुप की बैठक सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत, कैबिनेट मंत्री हरक सिंह रावत, केंद्रीय राज्यमंत्री अजय टम्टा, प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट, नैनीताल सांसद भगत सिंह कोश्यारी, पूर्व सांसद बलराज पासी समेत कई वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में सम्पन्न हो गई है। बैठक में सांसद बीसी खंडूड़ी को छोड़कर सभी सदस्य मौदूज रहे। कोर ग्रुप में निकाय चुनाव और संगठन की स्थिति पर चर्चा हुई। जिसमें 25 जनवरी को आजीवन सहयोग निधि के पहले चरण के समाप्त होने पर चर्चा की गर्इ।

मीडिया से मुखातिब होते बीजेपी प्रदेशाध्यक्ष अजय भट्ट

बीजेपी आफिस में जनता दरबार पर संशय

अजय भट्ट ने कहा कि पार्टी के दफ्तरों में लगने वाले जनता दरबार पर कोई रोक नही है लेकिन सरकार अब स्थानीय स्तर पर भी जनता दरबार लगायेगी, जिससे आम लोगों की दिक्कतों के समाधान के लिए अपने इलाके से दूर ना जाना पड़े। इस सिलसिले में जल्द पार्टी नेताओं की अहम बैठक होगी।

बता दें कि बीते 6 जनवरी को बीजेपी आफिस में कृषि मंत्री सुबोध उनियाल के जनता दरबार में हल्द्वानी के ट्रांसपोर्ट कारोबारी प्रकाश पाण्डे के जहर खाकर हुई मौत की घटना से सरकार अब फूंक फूंक कर कदम रखना चाहती है। वहीं इस मामले में डीएम द्वारा घोषित मुआवजे के मुद्दे पर भी त्रिवेन्द्र सरकार कांग्रेस के निशाने पर है।

BJP's Janta Darbar in Uttarakhand
देहरादून के बीजेपी आफिस में जहर खाकर पहुंचे थे हल्द्वानी के ट्रांसपोर्ट कारोबारी प्रकाश पाण्डे (फाईल फोटो)

कांग्रेसी चाहें तो दे दें बीजेपी को चंदा

बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष अजय भट्ट ने कहा कि मीटिंग के दौरान आगामी निकाय चुनावों और परिसीमन को लेकर चर्चा की गई। अजय भट्ट ने बताया कि आगामी कोर ग्रुप की बैठक 11 फरवरी को होगी। आजीवन सहयोग निधि चंदे पर कांग्रेस पर चुटकी लेते हुए कहा अजय भट्ट ने कहा कि अगर कांग्रेस वाले चाहें तो वो भी पार्टी को चंदा दे सकते हैं उन्हें कोई आपत्ति नही होगी। उन्होंने बताया कि पार्टी के लिए बीस हजार या उससे ऊपर चंदा देने वाले व्यक्तियों का पैनकार्ड रखा जाएगा। बाद में उस व्यक्ति का आभार भी व्यक्त किया जाएगा। साथ ही चंदा देने वाले शख्स का नाम ओपन नहीं किया जाएगा। इसके साथ ही पार्टी सरकारी अधिकारी और कर्मचारी से  चंदा नहीं लेगी।