ज्योतिष ज्ञान: कैसे लड़के से होगी लड़की की शादी ? ज्योतिष में छुपा है यह समाधान

243
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

हरिद्वार- न्यूज टुडे नेटवर्क: कहते हैं जोड़े स्वर्ग से बनकर आते हैं। जिंदगी भर एक दूजे के होकर रहने का पवित्र बंधन है शादी। यही वजह है कि चाहे लड़का हो या लड़की, अपने होने वाले जीवनसाथी को लेकर कई अपेक्षाओं के दौर से गुजरता है। हर किसी की ख्वाहिश होती है कि उसका होने वाला जीवनसाथी उसके सपनों के मुताबिक ही हो। ऐसे में अगर बात करें लड़की की तो उसके लिए शादी का फैंसला इस लिहाज से भी महत्वपूर्ण होता है क्योंकि शादी के बाद उसे अपने माता-पिता और घर परिवार को छोड़कर जाना होता है।

यह भी पढ़ें-जानिए! कब और किस उम्र में करें मैरिज के बाद पहला बेबी प्लान

यह भी पढ़ें-ज्योतिष ज्ञान: सिंदूर लगाते समय महिलाएं रखें इन 5 बातों का ध्यान, घर में होगी खुशियों की इंट्री

ज्योतिष में छुपा है शादी का रहस्य

ऐसे में लड़की के माता-पिता अपनी लाडली के जीवनसाथी को लेकर कोई समझौता नही करना चाहते। पूरी तरह से जांच परख कर ही लड़की की शादी करते हैं। ज्योतिष की मदद से लड़की की शादी की हर उलझन को सुलझाते हैं। दरअसल किसी लड़की की शादी कैसे लड़के से होगी, इस सवाल का जवाब ज्योतिष से मिल सकता है।

कुंडली के योगों से ये मालूम हो सकता है कि व्यक्ति का जीवन साथी कैसा होगा। आज हम आपको लड़की की कुंडली में छुपे ऐसे ही ज्योतिष के रहस्यों से रूबरू करवाने जा रहे हैं, जिनकी बदौलत लड़की को उसके सपनों के राजकुमार का मिलना आसान हो सकता है।

* सप्तम भाव में शनि अगर उच्च राशि का होता है तो लड़की का पति उम्र में काफी बड़ा हो सकता है। इस योग के असर से लड़की को लंबा और दुबला-पतला जीवन साथी मिलता है। अगर सप्तम भाव में नीच का शनि है तो लड़की का पति सांवला हो सकता है।

* अगर किसी लड़की की कुंडली में सूर्य, मंगल, शनि या राहु-केतु सप्तम भाव में हों या इनका प्रभाव सप्तम भाव पर हो तो जीवन साथी गोरा और सुंदर होता है। इस योग की वजह से कन्या को लगभग 5 वर्ष बड़ा जीवन साथी मिलता है।

* कुंडली में सप्तम भाव और सप्तम भाव का स्वामी विवाह संबंधी बातों का कारक होता है। इसी भाव से जीवन साथी से जुड़ी बातें भी मालूम हो सकती हैं। सप्तम भाव में शुभ ग्रह यानी चंद्र, गुरु, शुक्र या बुध हो या ये ग्रह सप्तम भाव के स्वामी हों या इनकी शुभ दृष्टि सप्तम भाव पर हो तो लड़की के होने वाले पति की आयु से समान होती है और वह सुंदर होता है। जिस लड़की की कुंडली में ऐसा योग होता है, उसके पति की उम्र और उसकी उम्र में ज्यादा अंतर नहीं होता है।

* जिस लड़की की कुंडली में सूर्य सप्तमेश यानी सप्तम भाव का है, उसका पति सरकारी क्षेत्र से संबंधित होता है यानी ऐसी लड़की के पति की सरकारी नौकरी हो सकती है।

* ज्योतिष के मुताबिक कुंडली में चंद्र सप्तमेश होने पर लड़की का होने वाला पति मध्यम कद-काठी और शांति मन वाला होता है।

* कुंडली में सप्तमेश मंगल होने पर होने वाला पति बलवान होता है, लेकिन ऐसा व्यक्ति स्वभाव से क्रोधी भी होता है। इस योग की वजह से लड़की को मध्यम कद-काठी का और ज्ञानी पति मिलता है। ऐसी लड़की का जीवन साथी पुलिस या अन्य सरकारी क्षेत्र में कार्यरत होता है।