अक्षय तृतीया के योग में सुबह उठते ही करें ये 5 काम, होगा भाग्योदय… जानें पूजा-खरीदारी का शुभ मुहूर्त

155
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

हल्द्वानी- न्यूज टुडे नेटवर्क: बैसाख महीने के शुक्ल पक्ष की तृतीया को अक्षय तृतीया का पर्व मनाया जाता है। हिंदू पंचांग में सबसे शुभ माने जाने वाले इस दिन के लिए ऐसी मान्यता है कि कि इस दिन कोई भी शुभ कार्य किया जा सकता है और इस दिन किए गए शुभ काम का कभी क्षय नहीं होता इसलिए इसे अक्षय तृतीया कहते हैं।

इस साल अक्षय तृतीया 18 अप्रैल 2018 को मनाया जाएगा। अक्षय तृतीया के ही दिन भगवान परशुराम का जन्मदिन भी मनाया जाता है इसलिए इसे परशुराम तीज भी कहते हैं। ऐसा माना जाता है कि इस दिन विवाह करने वालों का सौभाग्य अखंड रहता है। ऐसे में अगर आप भी बुधवार और अक्षय तृतीया के दिन सुबह उठकर ये 5 शुभ काम, करें तो आपका भाग्योदय हो सकता है।

*सुबह जागते ही सबसे पहले दोनों हथेलियां देखें। इसके बाद ये मंत्र बोलें-

कराग्रे वसते लक्ष्मी करमध्ये सरस्वती।
करमूले तू गोविन्दः प्रभाते करदर्शनम्॥

*अक्षय तृतीया पर सुबह नहाते समय सभी तीर्थों और पवित्र नदियों का ध्यान करें। ऐसा करने से घर पर ही तीर्थ स्नान का फल मिल सकता है।

*नहाने के बाद साफ वस्त्र पहनकर सूर्यदेव को जल चढ़ाएं। जल चढ़ाने के लिए तांबे के लोटे का उपयोग करें।

*अक्षय तृतीया पर किया गया दान अक्षय पुण्य प्रदान करता है। इस दिन जौ, गेहूं, चने, दही, चावल, खिचड़ी, गन्ने का रस, ठंडाई और दूध से बने हुए पदार्थ, सोना, कपड़े, जल का कलश आदि चीजें दान कर सकते हैं।

*18 अप्रैल की शाम किसी शिव मंदिर जाएं और शिवलिंग के पास दीपक जलाएं। दीपक जलाने के बाद शिव मंत्र ऊँ नम: शिवाय का जाप 108 बार करें।

क्या है महत्व

शास्त्रों के अनुसार अक्षय तृतीया के दिन वृंदावन के बांकेबिहारी जी के मंदिर में साल में एक बार श्री विग्रह के चरण दर्शन होते हैं. इस दिन ही भगवान गणेश ने महाभारत को लिखने की शुरुआत की थी। साथ ही इस पवित्र स्थल बद्रीनाथ के कपाट भी खुल जाते हैं। अक्षय तृतीया के दिन सोना खरीदने की विशेष परंपरा है। ऐसा माना जाता है कि इस दिन सोना खरीदने से घर में सुख समृद्धि बढ़ती है। लेकिन किसी कारणवश अगर आप इस दिन सोना नहीं खरीद पा रहे हैं तो भी इस दिन दान अवश्य करें। इस दिन दान करने का विशेष महत्व है.दान करने से आपका आने वाला समय अच्छा होगा।

अगली स्लाइड में जानें – अक्षय तृतीया की पूजा और खरीददारी का शुभ मुहूर्त