जानें किन 10 नए खेलों को एशियन गेम्स में किया गया है शामिल, भारत का “52 पत्तों वाला खेल” भी आएगा नजर

80
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

नई दिल्ली- न्यूज टुडे नेटवर्क : इंडोनेशिया में आज से शुरू हो रहे 18वें एशियन गेम्स में 10 खेल ऐसे हैं, जो पहली बार इन खेलों का हिस्सा बने हैं। 18 अगस्त से 2 सितंबर तक चलने वाले इस एशियाई महाकुंभ में 40 खेलों की लगभग 67 स्पर्धाएं होंगी।

जहां 28 ओलंपिक स्पोर्ट्स, 4 नए ओलंपिक स्पोर्ट्स और 8 नॉन ओलंपिक स्पोर्ट्स खेले जाएंगे। इस बार भारत ने 34 खेलों में अपनी भागीदारी को तय किया है। ऐसे में खेलों के इस महाकुंभ में पहली बार 10 नए खेलों को भी शामिल गया है। आइये जानते हैं कि आखिर वो कौन-कौन से खेल हैं जिन पर इस बार एशियाई महाकुंभ में सबकी नजर रहेगी।

कॉन्ट्रेक्ट ब्रिज

भारत में ताश के खेल को तो हर कोई जानता है। पर ताश के पत्तों का खेल पहली बार एशियन गेम्स का हिस्सा बना है। इसमें 2 खिलाड़ियों की जोड़ी प्रतिद्वंद्वी टीम को टक्कर देती है। इसमें चार गोल्ड के लिए 14 देशों के 217 खिलाड़ी उतरेंगे।

साम्बो

बिना हथियारों के आत्मरक्षा का गुण सिखाने वाली इस इवेंट को भी पहली बार एशियन गेम्स में जगह मिली है। यह जापान के जु-जित्सु खेल से प्रेरित है। इसमें 04 गोल्ड दांव पर हैं। इसके मुकाबले 31 अगस्त और एक सितंबर को होंगे।

3 गुणा 3 बॉस्केटबॉल

इस खेल में चार खिलाड़ियों की एक टीम शामिल होती है। 03 खिलाड़ी मैदान पर और एक खिलाड़ी रिजर्व होता है। बॉस्केटबॉल का खेल फुल कोर्ट पर होता है, जबकि इस इवेंट का खेल हॉफ कोर्ट पर होता है।

क्लाइंबिंग

स्पोर्ट्स क्लाइंबिंग का आयोजन 23 से 27 अगस्त तक पालेमबांग के जाकाबारिंग स्पोर्ट्स सिटी एथलेटिक परिसर में होगा। इसमें 06 गोल्ड मेडल दांव पर होंगे।

रोलर स्पोर्ट्स

यह स्केटबोर्डिग और इन लाइन स्पीट स्केटिंग की प्रतियोगिता है। इसका आयोजन पालेमबांग के जाकाबारिंग स्पोर्ट्स सिटी के रोलर पार्क में होगा। इसमें 06 गोल्ड मेडल दांव पर होंगे।

जेट स्की

इस खेल का आयोजन 23 से 26 अगस्त तक जकार्ता के एनकोल बीच पर होगा। इसमें एथलीट 04 अलग वर्गों इंड्योरेंस रुनाबाउट ओपन, रुनाबाउट 1100 स्टॉक, रुनाबाउट लिमिटेड और स्की मोडिफाइड में हिस्सा लेंगे।

पैराग्लाइडिंग

इस इवेंट में एथलीट 02 वर्गो में हिस्सा लेंगे। आयोजकों ने आयोजन स्थल में हवा के दबाव और अन्य संबंधित चीजों का बेहतर रूप से मुआयना किया है। इसमें 06 गोल्ड मेडल दांव पर होंगे।

कुराश

यह उज्बेकिस्तान का पारंपरिक मार्शल आर्ट्स है। यह जूडो और कुश्ती के संयोजन से बना है। यह खेल दोनों प्रतिद्वद्वियों के बीच मैट पर खड़े-खड़े ही खेला जाता है। दोनों खिलाड़ी मैट पर गिरने से बचने की कोशिश करते हैं।

पेनकेक सिलाट

यह पारंपरिक इंडोनेशियाई मार्शल आर्ट्स का एक प्रकार है। मेजबान देश ने मार्शल आर्ट्स के ऐसे 03 इवेंट एशियन गेम्स में शामिल किए हैं। इन इवेंट में स्थानीय एथलीटों के पास पदक जीतने का ज्यादा मौका होगा।

जु-जित्सु

शतरंज की तरह खेले जाने वाले इस मार्शल आर्ट्स इवेंट में रणनीति और योजना की भूमिका अहम होती है। इसमें कुश्ती के भी कुछ रूप शामिल होते हैं। 03 स्तरों में इसका आयोजन होता है। इसमें 08 गोल्ड दांव पर होंगे।