हल्द्वानी- यकीन नही होता: बीच सड़क मार डाला नवजात, जिसने देखा उसकी कांप गई रूह

107
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

हल्द्वानी- संजय पाठक: सोच कर ही रूह कांप जाती है। सोचिए इस हाड़ कंपा देने वाली ठंड़ में जब हर कोई गर्म ऊनी कपड़ों से खुद को ढक कर रखे हुए है, ऐसे में चंद घंटों की उम्र वाला मासूम बिना कपड़ों के सड़क पर पड़ा रहे। कुमाऊं के द्वार हल्द्वानी में इंसानियत को झकझौंर देने वाली एक ऐसी ही घटना सामने आई है। आज सुबह मंगलपड़ाव टेंपो स्टैंड के पास रोजाना की तरह चहल पहल थी। तभी अचानक एक बैग को देखकर लोगों की चीख निकल गई। दरअसल उस बैग में नवजात बच्चे को रखा गया था।

हाड़ कपाने वाली ठंड़ में मासूम बच्चे को बेजान पड़ा देख हर कोई हक्का बक्का रह गया। स्थानीय लोगों ने तुरंत इस घटना की सूचना मंगलपड़ाव चौकी पुलिस को दी। चौकी इंचार्ज अजेन्द्र प्रसाद ने बताया कि सीसीटीवी की मदद से नवजात बच्चे को सड़क पर छोड़ने वालों की तलाश की जा रही है।फिलहाल नवजात के शव को 72 घंटे के लिए पोस्टमार्टम हाउस में रखा गया है। उन्होंने बताया कि नवजात बच्चे के शव के सिलसिले में सरकारी और प्राइवेट अस्पतालों में भी छानबीन की जायेगी।

कैसे निर्दयी मां- बाप होंगे वो

जिसने भी नवजात बच्चे को भीषण ठंड़ में बिना कपड़ो के देखा , वो सन्न रह गया। लोग आपस में खुसुपुसा रहे थे कि आखिर वो कैसी निर्दयी मां होगी जिसने इस दुधमुंहे मासूम को राह चलते छोड़ दिया। भगवान से ना डरती ना सही लेकिन एक मासूम की जिंदगी पर तो तरस खा देती। खैर जितने मुंह उतनी बातें… फिलहाल नन्हीं सी जान वाला वो मासूम दुनिया छोड़ चुका है लेकिन अब भी उसकी बेजान खामोश तोतली जुबान एक ही बात पूछ रही है- मम्मी-पापा आपने मेरे साथ ऐसा क्यों किया।