पाकिस्तान की गोलीबारी से शहीद हुए BSF के 2 जवान, 1 शहीद के शादी के कार्ड भी बंट चुके थे…

182
Facebooktwittergoogle_pluspinterest

[न्यूज टुडे नेटवर्क]. जम्मू से सटी अंतरराष्ट्रीय सीमा के पार से 3 जून को पाकिस्तान ने गोलीबारी स्टार्ट की. रात के तकरीबन 2.30 बजे की बात है. BSF के दो जवान इसकी चपेट में आकर शहीद हो गए. एक हैं असिस्टेंट सब-इंस्पेक्टर सत्य नारायण यादव. दूसरे, कॉन्स्टेबल विजय कुमार पाण्डेय. विजय पाण्डेय 5 जून को घर आने वाले थे क्योंकि 20 जून को उनकी शादी होने वाली थी. शादी के कार्ड भी बंट चुके थे. लेकिन अफसोस दो दिन पहले ही वो शहीद हो गए.

बाएं में विजय पाण्डेय, दाएं में सत्य नारायण यादव

घायल होने के बाद इलाज के लिए उन्हें अस्पताल भेजा गया पर रास्ते में ही उनकी मौत हो गई

शहीद विजय कुमार पाण्डेय यूपी के फतेहपुर जिले के सठिगवां गांव के रहने वाले थे. पाकिस्तान से लगी सीमा से सटा हुआ जम्मू के अखनूर सेक्टर में परगवाल नाम का इलाका है. यहीं पर पोस्टेड थे विजय पाण्डेय. 3 जून की देर रात को जब पाकिस्तान ने संघर्षविराम तोड़ा, तो गोली शहीद विजय को भी लगी. वो घायल हुए. इलाज के लिए उन्हें अस्पताल ले जाया गया. मगर रास्ते में ही विजय ने दम तोड़ दिया और उनकी मौत हो गई. बता दें कि अभी एक हफ्ते पहले ही भारत और पाकिस्तान के डायरेक्टर जनरल ऑफ मिलिटरी ऑपरेशन्स में समझौता हुआ था. दोनों पक्ष 2003 में हुए संघर्षविराम समझौते को मानने पर राजी हुए थे. खबर मिली थी कि सीजफायर के लिए पाकिस्तान ने ही अपील की थी.

सत्य नारायण यादव

 

बता दें कि BSF ने जब विजय पाण्डेय के घर उनकी शहादत की खबर देने के लिए फोन किया, तब विजय की मां घर की साफ-सफाई कर रहीं थीं. फोन आते ही वो समझ गईं की कुछ बुरी खबर है और वो बेहोश हो गईं.उनके पिता की हालत वैसी ही है, जैसी जवान बेटे की लाश देखने वाले किसी भी पिता की होती है.